Friday, April 16, 2021
Homeदेशराहत : 24 घंटे में यूपी, राजस्थान समेत 18 राज्यों में...

राहत : 24 घंटे में यूपी, राजस्थान समेत 18 राज्यों में कोरोना से एक भी मौत नहीं

न्यूज़ एजेंसी – नई दिल्‍ली देश में कोविड-19 संक्रमण की रोकथाम के लिए टीकाकरण का काम तेजी से चल रहा है। केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय की ओर से बुधवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक करीब 1,91,373 सत्रों के जरिए करीब 90 लाख लोगों का टीकाकरण किया गया है। समाचार एजेंसी पीटीआइ की रिपोर्ट के मुताबिक लाभार्थियों में 61,50,922 स्वास्थ्य कर्मी हैं जिन्‍हें पहली खुराक दी जा चुकी है। 2,76,377 स्वास्थ्य कर्मियों को दूसरी खुराक दी गई है। वहीं अग्रिम मोर्चे पर काम करने वाले 25,71,931 कर्मचारियों को वैक्‍सीन की पहली खुराक दी गई है। स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के अनुसार 16 फरवरी को शाम चार बजे तक जिन लोगों का टीकाकरण हुआ उनमें 22 को उपचार के बाद छुट्टी दे दी गई। मंत्रालय का कहना है कि अब तक टीकाकरण के बाद गंभीर दुष्प्रभाव या इससे किसी की मौत के मामले सामने नहीं आए हैं। पहली खुराक दिए जाने के 28 दिन होने के बाद 13 फरवरी से लाभार्थियों को दूसरी खुराक दिए जाने की शुरुआत की गई थी। टीकाकरण अभियान के 32वें दिन (16 फरवरी) को कुल 7,001 सत्रों में टीकाकरण हुआ। इसमें कुल 2,76,943 लोगों को वैक्‍सीन दी गई। 16 फरवरी को टीकाकरण में 1,60,691 लोगों को पहली खुराक दी गई जबकि 1,16,252 स्वास्थ्यकर्मियों को दूसरी खुराक दी गई। स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के मुताबिक पिछले 24 घंटे में उत्तर प्रदेश, राजस्थान और आंध्र प्रदेश समेत 18 राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों में कोरोना संक्रमण से किसी भी व्‍यक्ति की मौत नहीं हुई है। इन राज्‍यों में यूपी, राजस्थान, आंध्र प्रदेश, जम्मू कश्मीर, झारखंड, पुडुचेरी, हिमाचल प्रदेश, लक्षद्वीप, मणिपुर, लद्दाख, असम, अंडमान एवं निकोबार द्वीपसमूह, सिक्किम, मेघालय, त्रिपुरा, मिजोरम, अरुणाचल प्रदेश, दादर एवं नगर हवेली और दमन एवं दीव शामिल हैं। कोरोना के खिलाफ गठित राष्ट्रीय टास्क फोर्स के प्रमुख डॉ. वीके पॉल का कहना है कि टीकाकरण में तेजी लाने के लिए वैक्‍सीनेशन सेंटरों की संख्या पांच गुना बढ़ाई जाएगी। समाचार एजेंसी रायटर की रिपोर्ट के मुताबिक अभी रोजाना औसत तीन लाख लोगों को ही टीका लगाया जा रहा है। केंद्र सरकार ने इस साल अगस्त तक तीन करोड़ लोगों को वैक्सीन दिए जाने का लक्ष्य रखा है।

Most Popular

Recent Comments