Saturday, July 13, 2024
Homeशिमला32 साल का सेवाकाल पूरा करने वाले एचएचसी व एचसी को एचएएसआई...

32 साल का सेवाकाल पूरा करने वाले एचएचसी व एचसी को एचएएसआई का दर्जा नहीं मिला

विजय ठाकुर

पुलिस विभाग ने 19 जुलाई को 299 एचसी व एचएचसी किए पदोन्नत मगर एक्स-सर्विसमैन की हुई अनदेखी

ऑनरेरी एएसआई बनकर रिटायर होने के इन्तजार में प्रदेश पुलिस के कई हेड कांस्टेबल

प्रदेश सरकार ने तीन दशक तक हेड कांस्टेबल व ऑनरेरी हेड कांस्टेबल के पदों पर सेवाएं देने वाले पुलिस कर्मियों के लिए 22 अक्तूबर 2018 को हुई कैबिनेट मीटिंग में बड़ी सौगात का ऐलान किया था। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने शिमला में मीडिया से बातचीत में ऐलान किया था कि अब 32 साल तक अपनी सेवाएं देने वाले हेड कांस्टेबल को ऑनरेरी एएसआई के पद पर पदोन्नति दे दी जाएगी।
इस पदोन्नति के साथ ही ऑनरेरी एएसआई को एएसआई की तरह स्टार लगाने व वर्दी पहनने की इजाजत होगी। साथ ही ऑनरेरी एएसआई को 200 रुपये प्रतिमाह का विशेष वेतन भी दिया जाएगा। सरकार के इस फैसले के बाद प्रदेश पुलिस के करीब पांच सौ पुलिस कर्मियों को तत्काल लाभ मिलना था।
पुलिस विभाग की ओर से कुछ माह पहले एचसी व एचएचसी पद पर 32 साल की सेवा देने वाले पुलिस कर्मियों को पदोन्नति देने के लिए ऑनरेरी एएसआई पद को सृजित करने की सिफारिश की गई थी। मुख्यालय के प्रस्ताव से 377 ऑनरेरी हेड कांस्टेबल और 123 हेड कांस्टेबल जो 31 अगस्त 2018 तक 32 साल का सेवाकाल पूरा कर चुके थे, उन्हें लाभ मिलना था।

इस प्रस्ताव से हिमाचल सरकार पर महज साढ़े आठ करोड़ रुपये का अतिरिक्त भार आना था। करीब महीने भर के मंथन के बाद सरकार ने इस प्रस्ताव को मंजूरी दे दी। मुख्यमंत्री ने कहा था कि लंबे कार्यकाल के बावजूद अभी तक पुलिस कर्मी बिना एएसआई बने ही रिटायर हो जाते हैं,लेकिन इस पद को सृजित करने से वह सम्मान के साथ रिटायर हो सकेंगे। हालांकि, उन्होंने यह जरूर कहा था कि इस पदोन्नति के लिए केवल सेवाकाल ही नहीं बल्कि वार्षिक गोपनीय रिपोर्ट और पिछले पांच साल का सेवाकाल संतोषजनक होना जरूरी होगा।सीएम के इस फैसले से खुश होकर हेड कांस्टेबल और ऑनरेरी हेड कांस्टेबलों के एक प्रतिनिधिमंडल ने मुख्यमंत्री से मुलाकात कर सरकार के फैसले का आभार जताया था। सदस्यों ने कहा था कि लंबित मांग को पूरा कर सरकार ने बड़ी राहत दी है मगर आठ माह वीत जाने के बाद भी प्रदेश के लगभग 50-60 के करीब एक्स-सर्विसमैन एचसी व एचएचसी पदोन्नत होनें की राह देख रहे है ।

हिमाचल प्रदेश सरकार कार्मिक विभाग ने 25 फरवरी,2019 को नोटिफिकेशन जारी किया जिसमें एक्स-सर्विसमैन जो हिमाचल के विभिन्न विभागों में सेवारत हैं उनकी वरिष्ठता नहीं बदली जाएगी जिन्हे एक्सटैंड रूल्स के तहत वरिष्ठता दी गई है इन्हें वरिष्ठता 29 दिसम्बर 2008 उच्च न्यायालय के आदेश से पहले जैसी व्यवस्था रहेगी इसके वारे में क्रमांक संख्या 5 (I) में लिखा है ।
क्रमाक संख्या 5(ii) इसमें लिखा है कि जिन्हें वरिष्ठता नहीं मिली है चाहे वह 2008 वर्ष से पहले के इनरोल्ड हों या वाद के उन्हें वरिष्ठता नहीं मिलेगी लेकिन पे-प्रोटेक्शन मिलेगी।
क्रमांक(iii) इसमें लिखा है कि कि 30 जनवरी 2018 की नोटिफिकेशन से यदि किसी एक्स- सर्विसमैन की वरिष्ठता बदली हो तो उसे पहले की तरह बहाल किया जाए। हिमाचल प्रदेश पुलिस में जो भी एचसी या एचएचसी एक्स -सर्विस मैन हैं जिन्होंने 32 वर्ष की सेवा पूरी कर ली है उन्हें आनरेरी एससआई वनना था मगर पुलिस विभाग ने दिनांक 19 जुलाई 2019 को 299 एचसी व एचएचसी को आनरेरी एएसआई बना दिया लेकिन इसमें एक्स- सर्विस मैन को पदोन्नत नहीं किया गया जिससे इन सभी कर्मचारियों में गहरा रोष व गुस्सा पनप रहा है,उक्त कर्मचारियो ने सरकार व पुलिस विभाग से शीघ्र उन्हें पदोन्नत करने की मांग उठाई है ताकि उन्हें भी सम्मान के साथ सेवानिवृत किया जा सके। जबकि दूसरे विभागों में दिनांक 25 फरवरी,2019 की कार्मिक विभाग की नोटिफिकेशन के हिसाब से पदोन्नतियां हो रही हैं उदाहरण के तौर पर शिक्षा विभाग हिमाचल प्रदेश ने इन आदेशो को अमलीजामा पहनाकर एक्स-सर्विसमैन को लाभ भी दे दिया है।

क्या कहते है हिमाचल प्रदेश पुलिस महानिदेशक

इस बारे में जब हिमाचल प्रदेश पुलिस महानिदेशक सीताराम मरडी से बात की गई तो उन्होंने बताया कि पुलिस विभाग में एक्स- सर्विसमैन एचसी ब एचएचसी की वरिष्ठता को लेकर सुप्रीम कोर्ट की तरफ से कोई अड़चन चल रही है जिस वजह से उन्हें प्रमोट नहीं किया गया है। उन्होंने बताया कि पुलिस विभाग उन लोगों को प्रमोट करने के पक्ष में है तथा इसकी कानूनी जांच चल रही है तथा जांच के बाद ही कुछ कहा जा सकता है।

Most Popular