COVID-19 Total Cases

All countries
1,095,917
Total confirmed cases

COVID-19 Total Deaths

All countries
58,787
Total deaths

COVID-19 Total Recoverd

All countries
225,796
Total recovered

COVID-19 Total Active

All countries
811,334
Total active cases
Saturday, April 4, 2020

COVID-19 Total Cases

All countries
1,095,917
Total confirmed cases

COVID-19 Total Deaths

All countries
58,787
Total deaths

COVID-19 Total Recoverd

All countries
225,796
Total recovered

COVID-19 Active Cases

All countries
811,334
Total active cases

-

सीजीसी लांडरा में लॉन्च किए 10 नए प्रोफेसनल कोर्स…जॉब प्लेसमेंट 80%

शिमला : चंडीगढ़ ग्रुप ऑफ कॉलेज (सीजीसी) लांडरा ने अपने नए सत्र में कई नए कोर्स लॉंच किए हैं रिसर्च से नवीनतम तकनीकों व अकादमिक अवसरों को बढ़ाने के लिए 10 नए रिसर्च से जुड़े तथा अन्य प्रोफेशनल कोर्स शुरू किए हैं। शिमला में आयोजित प्रेस वार्ता को सम्बोधित करते हुए सीजीसी लांडरा के कैंपस डायरेक्टर प्रो. डॉ. पीएन ऋषिकेशा ने गुरूवार को प्रेस क्लब शिमला में यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि इन कोर्स में नौकरियों के बेहतर अवसर हैं तथा ये कोर्स सत्र 2020 से शुरू हो रहे है।

उन्होंने कहा कि सीजीसी लांडरा में आईके गुजराल पंजाब तकनीकी विश्वविद्यालय से बीएससी आर्टिफिशल इंटेलिजेंस व मशीन लर्निंग, डिजिटल मार्केटिंग में बीबीए, बीबीए सेल्स, मार्केटिंग, एडवरटाईजिंग और पब्लिक रिलेशन मैनेजमेंट, माईक्रोबोलोजी में बीएससी को संबद्ध विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) और फार्मेसी काउंसिल आॅफ इंडिया (पीसीआई) द्वारा फार्मेसी प्रैक्टिस में एम (पोस्ट बेककलौरीट), एम फार्मा इन फार्मेसी प्रेक्टिस एवं एम फार्मा इन रेगुलेटरी अफेयर्स आदि कोर्स शुरू किए जा रहे हैं। इसके अलावा बाहरवीं पास छात्रों के लिए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस एवं मशीन लर्निंग में बीएससी कोर्स भी शुरू किया गया है।
उन्होंने कहा कि अब बीबीए को सेल्स, मार्केटिग, एडवरटाईजिग में लांच किया गया है जिससे सभी पेशेवरों को उन्नत मार्केटिग एवं एडवर्टाइजिग कौशल से लेस किया जाए जोकि सभी उद्योगों की अग्रणी प्राथमिकता बन गई है।
कहा कि इसके साथ ही एम फार्मेसी (रेगुलेटरी अफयेर्स) को भी लान्च किया गया है जो प्रोफेशनल्स को रेगुलेटरी अफेयर कन्सलटेंट, स्पैशलिस्ट, एसोसिएसट बनने का अवसर प्रदान करेगा और इसके साथ ही वह ड्रग सेफटी स्पैशलिस्ट, ड्रग इन्सपेक्टर और मेडिकल इन्फोर्मेशन एसोसिएट में भी अच्छे मौके प्राप्त कर सकते हैं। एम फार्मेसी (फार्मा प्रेक्टिस) – एवं फार्मा डी (पोस्ट बेककलौरीट) को भी छात्र चुन सकते हैं जो उन्हें आगे चलकर प्रोफेसर बनने का मौका एवं अस्पताल में फार्मा को विजिलेंस व रिर्सच में भी अच्छे अवसर प्रदान करेगा।

उन्होंने कहा कि सीजीसी लांडरा में मेडिकल एवं नाॅन मेडिकल के छात्रों के लिए माईक्रोबायोलोजी में तीन वर्षिय बेचलर इन साईंस (बीएससी) को लान्च किया गया है। मेडिकल रिसर्च में क्वालिटी कन्ट्रोल में माईक्रोबायोलोजिस्ट की बहुत आवश्यकता है और इसके साथ ही यह छात्र शिक्षक का प्रोफेशन भी चुन सकते है।

Latest news

देश पर संकट का समय और कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष को सूझ रही राजनीति : शशि दत्त

शिमला : भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता शशि दत्त ने कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष राठौर...

इंडियन ऑयल ने की कर्मियों की मौत पर 5 लाख देने की घोषणा

रेणुका गौतम-आपातकालीन स्थिति में सेवा दे रहे हैं गैस वितरण कर्मचारीकुल्लू : सभी गैस एजेंसियों के कर्मचारी...

कोटखाई : कर्फ्यू के दौरान कार से चिट्टा बरामद..चार गिरफ्तार

शिमला : कोटखाई में कर्फ्यू के बीच कार लेकर निकले चार युवकों को पुलिस ने नशीले पदार्थ...

Must read

You might also likeRELATED
Recommended to you