Friday, June 21, 2024
Homeसिरमौरपच्छाद उपचुनाव में पांच प्रत्याशी मैदान में - त्रिकोणीय हुआ मुकाबला

पच्छाद उपचुनाव में पांच प्रत्याशी मैदान में – त्रिकोणीय हुआ मुकाबला

दयाल पयारी लडेगे निर्दलीय चुनाव-आशीष सिक्टा ने नामांकन लिया वापिस
सिरमौर
: पच्छाद विस क्षेत्र उपचुनाव के लिए वीरवार को नामांकन वापसी का अंतिम दिन था। भाजपा के एक बागी आशीष सिक्टा ने तो भाजपा नेताओं व सरकार के दबाव में आकर नामांकन वापस ले लिया। वही जिला परिषद सदस्य दयाल प्यारी ने अपना निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर भरा नामांकन वापस नहीं लिया। जबकि सरकार ने दयाल प्यारी कश्यप पर भी नामांकन वापिस लेने को भारी दबाव बनाया था।

वीरवार सुबह सोलन के समीप ओच्छघाट के शगुन होटल में भाजपा चुनाव प्रभारी ठाकुर महेंद्र सिंह व सतपाल सत्ती से बातचीत होनी थी। मगर यह बातचीत नहीं हो सकी। उसके बाद दयाल प्यारी ने अपने समर्थकों सहित जटोली शिव मंदिर में माथा टेककर चुनाव प्रचार अभियान किया। जटोली शिव मंदिर के बाद दयाल प्यारी सीधे अपने कुलदेवता एवं पच्छाद क्षेत्र के आराध्य देव भुरेश्वर महादेव के मंदिर पहुंची। जहां पूजा अर्जना करने के बाद अपने समर्थकों सहित चुनाव की रणनीति बनाई।

करीब 2:00 बजे भुरेश्वर महादेव मंदिर से निकलकर अपने जिला परिषद वार्ड बाग पशोग के पानवां गांव से चुनाव का प्रचार आरंभ किया। दयाल प्यारी ने बताया कि सरकार की ओर से उन्हें पद तक की ऑफर दी गई। मगर उनके साथ दो तानाशाहों द्वारा किये गये अभद्र व्यवहार पर कोई भी कार्रवाई का आश्वासन सरकार व संगठन ने नहीं दिया।

दयाल प्यारी कश्यप ने कहा कि वह जतना के स्वाभिमान की लड़ाई लड़ रही हैं। अब वह अन्याय के खिलाफ मैदान में उतर कर अपनी गरीब जनता के समर्थन से चुनाव जीतेगी। जबकि राजगढ़ में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के छात्र नेता आशीष सिक्टा ने प्रदेश भाजपा महामंत्री चंद्र मोहन ठाकुर, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री राजीव सैजल व शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज के नेतृत्व में अपना नामांकन वापस लिया। वही आशीष सिक्टा से नाराज समर्थकों ने सराहां व राजगढ़ में दयाल प्यारी कश्यप को समर्थन के लिए हामी भरी। अब पच्छाद विस क्षेत्र में तिकोना मुकाबला हो गया है। अब मुख्य मुकाबला कांग्रेस के जीआर मुसाफिर, भाजपा की रीना कश्यप व निर्दलीय दयाल प्यारी के बीच होगा। जबकि दो अन्य निर्दलीय पवन कुमार व सुरेंद्र पाल छिंदा भी मैदान में है। जहां भाजपा इस चुनाव को जीतने के लिए पुरजोर कोशिश करेगी। वही कांग्रेस व भाजपा के रूष्ठ लोग लोग भी दयाल प्यारी कश्यप के समर्थन में उतर गए है।

बता दें कि पच्छाद में 43 प्रतिशत वोट एससी बिरादरी के है। जिसमें से कोली बिरादरी के वोट 35 प्रतिशत है। अब देखना है कि कोली बिरादरी के वोट कौन सा प्रत्याशी अपनी ओर खीचने में कामयाब होता है

Most Popular