Saturday, March 2, 2024
Homeकुल्लूजनशिकायत के संपूर्ण निवारण के बाद ही दें ऑनलाइन रिपोर्ट: बरागटा

जनशिकायत के संपूर्ण निवारण के बाद ही दें ऑनलाइन रिपोर्ट: बरागटा

रेणुका गौतम
कुल्लू में की जनमंच की समीक्षा के दौरान अधिकारियों को दिए निर्देश

हिमाचल प्रदेश विधानसभा में भाजपा के मुख्य सचेतक तथा जनमंच के राज्य समन्वयक नरेंद्र बरागटा ने आज यहां राज्य सरकार के महत्वाकांक्षी ‘जनमंच’ कार्यक्रम की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता की। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि जनमंच मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की दूरदर्शी सोच की उपज है और एक महत्वाकांक्षी कार्यक्रम है, जिसमें उन्हांेने आम लोगों के साथ सरकार के सीधे संवाद के साथ-साथ उनकी समस्याओं का समाधान करने का रास्ता निकाला है।

उन्होंने बताया कि प्रदेश में अभी तक कुल 131 स्थानों पर आयोजित किए गए जनमंचों में कुल 32,316 जनशिकायतें प्राप्त हुई हैं जिनमें से 29,875 का निपटारा किया जा चुका है। जनमंच के माध्यम से सरकार की कुछ स्कीमों का लाभ शत-प्रतिशत पात्र लाभार्थियों तक पहुंचाने की कोशिश की जाती है, जिसके अंतर्गत अब तक 5446 परिवारों को बेटी है अनमोल योजना के अंतर्गत लाभान्वित किया गया है। इस दौरान 5,15,358 डिजिटाइज्ड राशनकार्ड, 1,67,431 किसान क्रेडिट कार्ड और विभिन्न प्रकार के 34,878 प्रमाण-पत्र लोगों को मौके पर ही प्रदान किए गए। 45,589 परिवारों को गृहिणी सुविधा योजना के तहत गैस कनैक्शन दिए गए तथा 14,205 जनधन खाते खुलवाए गए। 40,681 महिलाओं का टीकाकरण और 6248 इंतकाल भी जनमंचों के दौरान ही किए गए। सामाजिक सुरक्षा पेंशन के 2,10,773 मामलों और 26,179 अन्य मामलों की औपचारिकताएं भी मौके पर ही पूरी की गई। जनमंचों में लगाए गए चिकित्सा शिविरों में 50,675 लोगों के स्वास्थ्य की जांच की गई।
जनमंच में कुल्लू की रिपोर्ट सराहनीय
कुल्लू जिला में अभी तक आयोजित 11 जनमंचों में जनशिकायतों के निवारण की विस्तृत रिपोर्ट पर संतोष व्यक्त करते हुए बरागटा ने कहा कि इस दिशा में जिला के अधिकारियों ने सराहनीय कार्य किया है। कुल्लू जिला ने इसमें एक आदर्श प्रस्तुत किया। इस माॅडल का अन्य जिलों में भी अनुसरण किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि जिला में 11 जनमंचों के दौरान कुल 1044 जनशिकायतें प्राप्त हुई थीं, जिनमें से 1030 का निपटारा कर दिया गया है तथा 14 शिकायतें अभी लंबित हैं।
बैठक के दौरान बरागटा ने हर जनमंच की अलग-अलग रिपोर्ट तलब करके विभिन्न विभागों के उच्च अधिकारियों से जनशिकायतों के निवारण पर चर्चा की। उन्होंने संबंधित अधिकारियों को लंबित शिकायतों का तुरंत निपटारा करने के निर्देश दिए। बरागटा ने कहा कि जनशिकायतों का पूरी तरह निपटारा होने के बाद ही अधिकारी इसकी आॅनलाइन रिपोर्ट दें।
स्वच्छता और जल संरक्षण पर जोर दें अधिकारी
बरागटा ने अधिकारियों को अपने-अपने कार्य क्षेत्रों में स्वच्छता अभियान और जल संरक्षण पर विशेष जोर देने की अपील भी की। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी स्वच्छता और जल संरक्षण को लेकर बहुत ही संवेदनशील हैं और हर विभाग को प्रधानमंत्री के संदेश पर अमल करना चाहिए। बरागटा ने कहा कि जल संरक्षण के लिए सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य विभाग के अलावा वन विभाग, ग्रामीण विकास विभाग और पंचायतीराज संस्थाओं को मिलकर काम करना चाहिए। उन्होंने कहा कि कुल्लू जिला ने विश्व पर्यटन मानचित्र पर अपनी एक अलग पहचान बनाई है। जिला में पर्यटन उद्योग के विस्तार और युवा पीढ़ी को नशे से दूर रखने के लिए विशेष प्रयास करने की आवश्यकता है।
इस अवसर पर उपायुक्त डा. ऋचा वर्मा ने नरेंद्र बरागटा का स्वागत किया तथा जनमंच को लेकर प्रदेश सरकार की ओर से समय-समय पर जारी किए जा रहे दिशा-निर्देशों की अक्षरशः अनुपालना सुनिश्चित करने का आश्वासन दिया। बैठक में ग्रामीण विकास विभाग के संयुक्त निदेशक ज्ञान सागर नेगी, एडीएम अक्षय सूद और अन्य अधिकारी भी उपस्थित थे।

Most Popular