Friday, April 12, 2024
Homeकुल्लूइस बार देव संस्कृति और विदेशी संस्कृति का अभूतपूर्व मिश्रण होगा दशहरा...

इस बार देव संस्कृति और विदेशी संस्कृति का अभूतपूर्व मिश्रण होगा दशहरा उत्सव: सुन्दर सिंह ठाकुर

रेणुका गौतम, कुल्लू : मुख्य संसदीय सचिव वन, उर्जा, पर्यटन व परिवहन एवं अंतर्राष्ट्रीय कुल्लू दशहरा की जिला स्तरीय कमेटी के अध्यक्ष सुन्दर सिंह ठाकुर ने आज अंतराष्ट्रीय कुल्लू दशहरा कमेटी बैठक की अध्यक्षता की। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि इस वर्ष का दशहरा देव संस्कृति के साथ साथ देश विदेश की संस्कृति का आदान प्रदान का उत्सव होगा।

 अंतर्राष्ट्रीय दशहरा उत्सव की जिलास्तरीय कमेटी की बैठक की अध्यक्षता करते हुए कमेटी के अध्यक्ष ने आज अंतर्राष्ट्रीय दशहरा उत्सव 2023 की तैयारियों को लेकर समीक्षा की। उन्होने दशहरे को भव्य व बेहतर तरीके से मनाने के लिए गैर आधिकारिक सदस्यों के सुझाव भी लिए। उन्होंने बताया कि इस वर्ष दशहरे को एक  नए कलेवर के साथ मनाया जाएगा। दशहरा का मुख्य आकर्षण श्री रघुनाथ जी की रथयात्रा के अलावा सांस्कृतिक परेड एवम कुल्लू कार्निवाल रहेगा। सांस्कृतिक परेड में डेढ़ दर्जन विदेशी सांस्कृतिक दलों  के अलावा देश के विभिन्न राज्यों व प्रदेश के सभी जिलों के अलावा कुल्लू जिला के सांस्कृतिक दल भाग लेंगे।

सीपीएस ने कहा कि मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुख्खू अंतराष्ट्रीय कुल्लू दशहरे का राजधानी शिमला से शीघ्र कर्टन रेजर रिलीज करेंगें। ताकि देश विदेश तक दशहरे के भव्य आयोजन के बारे में प्रचार प्रसार सुनिश्चित हो सके। उन्होंने कहा कि सांस्कृतिक परेड व कुल्लू कार्निवाल के लिए पेशेवर कोरियोग्राफर की सेवाएं ली जाएगी। उन्होंने उम्मीद जताते कहा कि अंतर्राष्ट्रीय कुल्लू दशहरा का भव्य आयोजन जिला की आपदा के कारण मंद पड़ी पर्यटन गतिविधियों को बढ़ावा देने में भी सहायक सिद्ध होगा। उन्होंने कहा कि दशहरे में पधारे सभी देवताओं के साथ आए देवलुओं को बेहतर सुविधाएं उपलब्ध करवाई जाएंगी। 

उन्होंने कहा कि मेले के दौरान लगने वाली दुकानों को एकरूपता दी जाएगी। उन्होंने कहा कि मीना बाज़ार में दुकानों का आबंटन खुली बोली से किया जाएगा। फूड कोर्ट के लिए स्टाल आबंटन में 50 प्रतिशत नॉमिनेशन तथा 50 प्रतिशत खुली बोली से  किए जाएंगे। तथा प्रदर्शनी मैदान में फूड कोर्ट परिसर मे स्थानीय व्यंजनो सहित विभिन्न जिलों व प्रदेशों व विदेशी व्यंजनों का स्वाद चखने को मिलेगा। उन्होंने कहा कि इस वर्ष रेहड़ी फड़ी, कबाड़ व तंबोला मेले के आरम्भ होने के 7 दिनों के बाद लगाए जाएंगे। ताकि मुख्य कार्यक्रम में पर्याप्त स्थान देवी देवताओं के लिए मिल सके और साफ़ सुथरे माहौल में देव समागम का आयोजन किया जा सके।

उन्होंने कहा कि सांस्कृतिक कार्यक्रम में कलाकेंद्र के अलावा प्रदर्शनी मैदान में एक अतिरिक्त मंच की व्यवस्था की जाएगी। जहां दिन के समय में सभी चयनित कलाकारों को प्रस्तुतियां देने का अवसर मिलेगा। उन्होंने कहा कि कार्यक्रमों में प्रस्तुतियां देने के लिए ऑडिशन 10 से 15 अक्टूबर तक लिए जाएंगे तथा  इस वर्ष सांस्कृतिक कार्यक्रमों में 15 से अधिक अंतर्राष्ट्रीय दलों के अतिरिक्त राष्ट्रीय एवम राज्य स्तर के दल भी भाग लेंगेे। जिसके (आईसीसीआर ) अंतर्राष्ट्रीय सांस्कृतिक सम्बंध परिषद की एक टीम भी तैयारियों का जायजा लेने के लिए कुल्लू का दौरा करेगी।

उन्होंने कहा कि कलाकेंद्र में आगे की एक गैलरी की लगभग 1 हज़ार सीटों पर 500 रूपये का टिकट के माध्यम से बुकिंग होगी, ताकि बाहर से आए हुए दर्शक व पर्यटक लोग भी इस कार्यक्रम का लुत्फ उठा सकें। इस बार वीआपी गैलरी बार कलाकेंद्र के मध्य में बनेगी तथा इसका प्रवेश भी द्वार संख्या दो से रहेगा ताकि कार्यक्रम के दौरान दर्शकों को भी कोई व्यवधान उत्पन्न न हो।

उन्होंने कहा कि सांस्कृतिक परेड दशहरा के शुभारंभ के दूसरे दिन अयोजित होगी तथा कुल्लू कार्निवाल समापन समारोह के दिन आयोजित किया जाएगा। जिसमें विभिन्न संस्थाओं व विभागों के थीम आधारित आकर्षक टैबल्यू को प्रदर्शित किया जाएगा। उन्होंने कहा कानून व्यवस्था सुचारु बनाने में पुलिस, होम गार्ड्स, के साथ एनएसएस के स्काउट्स भी अपनी भूमिका निभाएंगे। उन्होने कहा कि तंबोला को लंका दहन के पश्चात चलाया जाएगा, ताकि मुख्य उत्सव में शोर के कारण व्यवधान उत्पन्न न हो। इसके अतरिक्त खेलकूद, पेयजल, पार्किग स्पेस इत्यादि व्यवस्था बनाने के लिए भी उचित दिशा निर्देश दिए गए।

बैठक की कार्यवाही का संचालन अतिरिक्त ज़िला दंडाधिकारी अश्वनी कुमार ने किया। बैठक में कांग्रेस जिलाध्यक्ष सेस राम आज़ाद, ज़िला परिषद अध्यक्ष पंकज परमार, कारदार संघ के अध्यक्ष दोत राम, नगर परिषद अध्यक्ष गोपाल कृष्ण महंत, पूर्व ज़िला परिषद् अध्यक्ष बुद्धि सिंह ठाकुर, सहायक आयुक्त शशिपाल नेगी, पुलिस अधीक्षक साक्षी वर्मा सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित थे। 

Most Popular