Thursday, May 30, 2024
Homeहमीरपुरएच.पी.सी.ए. को लेकर कांग्रेस विधायक राजेंद्र राणा ने अनुराग पर किया हमला

एच.पी.सी.ए. को लेकर कांग्रेस विधायक राजेंद्र राणा ने अनुराग पर किया हमला

होटल पैवेलियन का अधिकारिक मालिक कौन और किसके नाम है जमीन

कहा : 10 सालों में रेल लाइन भी बन गई सपना जिसके लिए जनता से माफी मांगे अनुराग

हमीरपुर : हिमाचल के उच्च पहाड़ी क्षेत्र में आईस स्केटिंग ट्रेनिंग सेंटर खोलने की केंद्रीय वित्त राज्यमंत्री अनुराग ठाकुर द्वारा मांग उठाने पर सुजानपुर से कांग्रेस विधायक राजेंद्र राणा ने तंज कसा है। उन्होंने पूछा है कि क्या अनुराग यह जमीन भी एच.पी.सी.ए. के नाम लेना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि अनुराग ठाकुर होटल पैवेलियन के अधिकारिक मालिक का नाम सार्वजनिक करें। साथ ही, यह भी बताएं कि वह जमीन हिमाचल प्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन के नाम है या फिर हिमाचल प्लेयर क्रिकेट एसोसिएशन के नाम। होटल हमीर में पत्रकारों को संबोधित करते उन्होंने केंद्रीय राज्य वित्त मंत्री से एसोसिएशन के एम.डी. व डायरैक्टर के बारे में भी तमाम जानकारी सार्वजनिक करने की बात कहते हुए कहा कि अनुराग ठाकुर वर्ष 2008 से हमीरपुर में रेल लाने की बात अलाप रहे हैं लेकिन आज तक वह इसे धरातल पर उतारने में समर्थ नहीं हो पाए हैं। उन्होंने कहा कि केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर रेल लाइन को हमीरपुर तक लाने में अपनी असमर्थता को प्रदेश की जनता के सामने कबूलें व जनता से माफी मांगे। देश की गिरती अर्थव्यवस्था पर भी उन्होंने केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री को घेरते हुए कहा कि वह बताएं कि देश की गिरती हुई अर्थव्यवस्था के लिए इस समय कौन जिम्मेवार है। उन्होंने कहा कि अनुराग ठाकुर बताएं कि बहुमत के साथ केंद्र की सत्ता पर काबिज होने के बावजूद केंद्र सरकार देशभर में भूखमरी, बेरोगजगारी व गिरती अर्थव्यवस्था का जिम्मेवार क्या कांग्रेस को ही मानते हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार में हिमाचल प्रदेश ने केंद्र को काफी नेता दिए लेकिन उन्होंने प्रदेश के लिए क्या किया है, इसके बारे में जनता को हिसाब दिया जाए। इन्स्वेस्टर मीट पर चुटकी लेेते हुए विधायक राजेंद्र राणा ने कहा कि अनुराग ठाकुर ने स्वयं एक इन्स्वेस्टर को राज्य सरकार पर भरोसा न करने के बारे में कहा है जोकि इन्स्वेस्टर मीट की सच्चाई को ब्यान करती है। उन्होंने कहा कि जयराम सरकार के मुताबकि 85 हजार करोड़ के एम.ओ.यू. साइन हुए हैं लेकिन मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर यह बताएं कि इनमें से कितने एम.ओ.यू. धरातल पर उतरेंगे व प्रदेश को उनका फायदा होगा। धर्मशाला नगर निगम एरिया में 1 लाख की रिश्वत मामले में भी राजेंद्र राणा ने कहा कि उक्त आरोपी ने मामले में कई बड़े नेताओं के नाम लिए हैं, जिनके कारण उसने वह रिश्वत प्रकरण किया था, जिनके नाम प्रदेश सरकार जनता के सामने लेकर आए। उन्होंने कहा कि पटवारी भर्ती परीक्षा में हजारों अभ्यर्थियों ने अनियमितताएं बरतने की शिकायतें की हैं लेकिन सरकार उनकी बातों को अनुसना कर कोई सकरात्म कदम नहीं उठा रही है। इस मामले में आगामी विधानसभा सत्र में पूरे जोरशोर से उठाया जाएगा।

Most Popular