Sunday, December 4, 2022
Homeराजनीतिसरकार के दावे के विपरीत हिमाचल में मात्र 51 फीसदी घरों में...

सरकार के दावे के विपरीत हिमाचल में मात्र 51 फीसदी घरों में ही है रसोई गैस

सिलेंडर के दामों से अनजानी – स्मृति ईरानी
झूठा हैं तेरा वायदा – जोईया मामा

स्मृति का दावा- हिमाचल में 1.36 लाख महिलाओं को उज्जवला फ्री गैस कनेक्शन दिए
हकीकत- मंहगे होने के कारण मात्र 9415 महिलाएं ही भर पाईं गैस सिलेंडर

शिमला:
कांग्रेस की प्रदेशाध्यक्ष प्रतिभा सिंह ने कहा है कि केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी एक बार फिर हिमाचल लोगों को गुमराह और झूठे वादे करने आ रही हैं। स्मृति ईरानी का शनिवार को रामपुर का दौरा है। प्रतिभा सिंह ने कहा कि इससे पहले जब स्मृति ईरानी हिमाचल आई थीं तो उन्होंने मनमोहन सरकार के समय में 450 रूपए के गैस के सिलेंडर को मंहगा बताया था। इसके साथ ही स्मृति ये वादा भी कर गई थीं कि केंद्र में भाजपा सरकार के बनते ही सिलेंडर की कीमतें कम कर दी जाएंगी।

कीमतें कम करने की बजाए बढाई, सब्सिडी भी की बंद
प्रतिभा सिंह ने कहा कि केंद्र में सता में आते ही मोदी सरकार ने रसोई गैस की कीमतें कम करने की बजाए इनकी कीमतें बढ़ाकर आम लोगों पर मंहगाई का बोझ डाला। हालात यह है कि आज रसोई गैस का सिलेंडर 1100 रूपए से पार जा चुका है। हिमाचल में लोगों को उज्जवला और मुख्यमंत्री गृहिणी योजना के तहत फ्री में गैस कनेक्शन देने का भाजपा हर मंच से बखान कर रही है, मगर मंहगे होने से महिलाएं गैस नहीं भर पा रही है। ये सिलेंडर अब चूल्हों पर ठंडे पड़ गए हैं।

• 15 जून 2020 को हिमाचल के दौरे के दौरान स्मृति ईरानी ने दावा किया था कि हिमाचल में 2018-19 में उज्जवला योजना के तहत 1.36 लाख गैस कनेक्शन दिए हैं।
• हिमाचल में 2018-19 में 83177 सिलेंडर ही रिफिल हुए।
• सिलेंडर महंगे होने के कारण 2021-22 में मात्र 9415 सिलेंडर ही महिलाएं गैस भर पाईं।
• केद्र सरकार ने चुनावों को देखते 2019 में गैस पर दी थी 37209 करोड़ की सब्सिडी दी।
• 2022 में मात्र 242 करोड़ की सब्सिडी ही केंद्र सरकार ने दी।
• सरकार के सौ फीसदी गैस कनेक्शन के दावों के विपरीत हिमाचल में 51.7 फीसदी ही घरों में है रसोई गैस
कॉंग्रेस नेता अल्का लांबा ने कहा महँगाई और LPG की बढ़ती कीमतों की वज़ह से हिमाचल की महिलाएं उज्ज्वला योजना के तहत मिले और अब खाली पड़े सिलेंडरों को स्मृति ईरानी को वापस लौटना चाहती है.
उज्जवला योजना के तहत मिले घरेलू गैस सिलेंडर अब बंद पड़े हैं। बंद पड़े इन सिलेंडरों को महिलाएं स्मृति ईरानी को उनके रामपुर दौरे के दौरान लौटाएंगी। वे मांग करेंगी कि या तो गैस के रेट कम हो या इनको सरकार वापस ले।
दूध, दही और बच्चों के पैंसिल पर भी जीएसटी लगाया
प्रतिभा सिंह ने कहा कि मोदी सरकार अब मंहगाई और रोजगार का जिक्र नहीं कर रही। सरकार ने खाने की वस्तुओँ पर भी जीएसटी (GST) लगा दिया है। सरकार ने दूध, दही और बच्चों के पैंसिल, शार्पनर और पढ़ाई लिखाई के अन्य सामान को भी नहीं छोड़ा।

मंहगाई से राहत देने के लिए महिलाओं को मिलेंगे 1500 रूपए
प्रतिभा सिंह ने कहा है कि कांग्रेस सरकार के सता में आते ही महिलाओं को 1500 रूपए प्रति माह आर्थिक सहायता देगी। इससे महिलाओं को महंगाई से राहत मिलेगी.
इस मौके पर कांग्रेस ने धूपबती देकर गैस सिलेंडरों पर फूल मालाएं भी अर्पित कीं।
कल स्थानीय महिलाएँ केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी को काले झंडे दिखा बढ़ी कीमतों का विरोध करेगी.

इस मौके पर राज्य महिला कांग्रेस की अध्यक्ष जैनब चंदेल भी मौजूद रहीं।

Most Popular

Recent Comments