Friday, February 26, 2021
Home हमीरपुर गले की फ़ांस बनती जा रही हमीरपुर को डस्टबिन फ़्री बनाने की...

गले की फ़ांस बनती जा रही हमीरपुर को डस्टबिन फ़्री बनाने की योजना

रजनीश शर्मा

  • चार दिन में ही जगह जगह दिखने लगे कूड़े के ढेर
  • ठेके की सफ़ाई में भी दिख रही गड़बड़
  • 56 क़ूड़ादान हटाए लेकिन क़ूड़ा उठाने कोई न आए ।
    हमीरपु
    र : हमीरपुर को डस्टबिन फ्री करने की मुहिम जिस तेज़ी से शुरू हुई, वह योजना चार दिन में ही हाँफ गयी है। नगरपरिषद ने बेशक 56 क़ूड़ादानों को उठा लिया लेकिन अब घरों से क़ूड़ा उठाने कोई नहीं आ रहा है। मजबूरी में लोग खुली जगह या फिर सड़क के किनारे क़ूड़ा फेंक रहे हैं। कई जगह उन्ही स्थानों पर लोगों ने क़ूड़ा फेंक दिया है जहाँ से क़ूड़ादान उठा लिए गये हैं। वार्डों व शहर से डस्टबिन तो हटा लिए लेकिन सफ़ाई व्यवस्था चरमरा गयी है।
    आपको बता दें कि हमीरपुर नगर के 11 वार्डों के लिए सफ़ाई का ठेका ठेकेदारों को दे दिया गया है। हर वार्ड में ठेकेदार 8-8 सफ़ाई कर्मचारियों को क़ूड़ा एकत्रित करने के लिए रखेगा । वहीं नगर परिषद की गाड़ी शहर में दिन में तीन बार कूड़ा उठाएगी ताकि शहर को साफ-सुथरा बनाया जा सके। लेकिन इस व्यवस्था को चार दिनों से पटरी पर नहीं लाया जा सका है। सबसे बुरी हालत प्रतापनगर , हीरानगर , कृष्णानगर , अणु तथा दोसड़का क्षेत्रों की है जहाँ कई जगह कूड़े के ढेर दिखना शुरू हो गये हैं कुछ जगहों पर दोपहर को क़ूड़ा उठाने सफ़ाई कर्मचारी पहुँच रहे हैं लेकिन तब घरों में लोग नहीं मिलते । मजबूरन शाम को सड़कों पर लोग क़ूड़ा रख रहे हैं।

यह है प्रावधान

नगर परिषद हमीरपुर में गीला व सूखा कचरा अलग-अलग उठाने की व्यवस्था की गयी है। इसके लिए is सभी दुकानों व वार्डों में दो-दो कूड़ेदान दिए गए हैं। नगर परिषद के सफाई कर्मचारी भी लोगों से अलग-अलग कूड़ा एकत्रित करेंगे । यही नहीं, शहर में गीला व सूखा कचरा एकत्रित करने के लिए दो वाहन चलाए जाते हैं। इस व्यवस्था को बनाने में नगरपरिषद की साँस फूल गयी है

लगाए गए हैं कैमरे

नगर परिषद एरिया में जहां अकसर लोग रात के अंधेरे में घरों से कूड़ा-कर्कट सुनसान जगहों पर फेंक देते हैं। शहर की उन जगहों पर अब कैमरे भी लगाए गए हैं। यदि कोई व्यक्ति सीसीटीवी कैमरे में कूड़ा फेंकता पाया जाता है, तो उससे जुर्माना वसूला जा सके।

क्या कहते हैं जन प्रतिनिधि

इस बारे में वार्ड नम्बर 3 प्रतापनगर के पार्षद अनिल सोनी का कहना है कि सोमवार से हालत सुधर जाएँगे । नई प्रणाली शुरू होने से कुछ दिक़्क़तें आ रही है । उन्होंने आम लोगों को भी सहयोग की अपील की है । वहीं नगरपरिषद के उप प्रधान दीप कुमार बजाज ने कहा कि लोगों की शिकायतें मिली हैं कुछ जगह क़ूड़ा दोपहर को उठाया जा रहा है जिसे सुबह के वक़्त उठाने के निर्देश दिए गये हैं। उन्होंने कहा कि ठेकेदारों को सख़्ती से सफ़ाई व्यवस्था ठीक करने के आदेश दे दिए गये हैं।

Most Popular

Recent Comments