Saturday, March 2, 2024
Homeहमीरपुरगोद भराई रस्म से रखी जा रही बेटी बचाओ अभियान की...

गोद भराई रस्म से रखी जा रही बेटी बचाओ अभियान की बुनियाद

  • गर्भवती महिलाओं के लिए आंगनबाड़ी केंद्र बन रहे वरदान
    रजनीश शर्मा
    हमीरपुर : आंगनबाड़ी केंद्र छोटे बच्चों के पोषण आहार के लिए तो मददगार साबित हुए ही हैं बल्कि गर्भवती महिलाओं के लिए भी वरदान बन रहे हैं। गर्भवती महिलाओं व शिशुओं को बेहतर स्वास्थ्य प्रदान करने के लिए आंगनबाड़ी केंद्रों में स्वास्थ्य दिवस मनाया जाना अब एक अभियान का रूप धारण कर गया है। इसी अभियान के तहत आंगनबाड़ी में आयोजन किया जाता है । इस दौरान बेटी बचाओ अभियान के तहत बेटी बचाने का संदेश भी दिया जा रहा है । इसके अंतर्गत पारंपरिक मंगलगीत के साथ गर्भवती महिलाओं की गोद भराई की रस्म अदा की जाती है ।इस दौरान परिसर को रंगोलियाें से सजाया जाता है ।

कैसे हो रही गोद भराई की रस्म

जानकारी के अनुसार आंगनबाड़ी केंद्र के अधीन आने वाली गर्भवती महिलाओं का चिन्हीकरण कर स्वास्थ्य दिवस के रूप में मनाया जा रहा है। गोद भराई में बाकायदा गर्भवती महिलाओं को माला पहना उन्हें नारियल रखकर और मंगलगीत के बीच महिला का मीठा मुंह कर उन्हें मिठाई गोद भराई से जुड़ी अन्य सामग्री वितरित की जाती है । इसके अलावा बेटी बचाओ का संदेश भी दिया जा रहा है गर्भवती महिला उनके साथ आए रिश्तेदारों को सुरक्षित प्रसव के लिए बरती जाने वाली सावधानियां और सुरक्षित प्रसव अस्पताल में कराने के बारे में जानकारी देकर जागरूक किया जाता है इसके साथ ही उन्हें बताया जा रहा है कि जन्म से तुरंत बाद पहला दूध शिशु को उसकी मां का पिलाए घुटी नहीं दें। बच्चे को 6 माह तक मां का दूध ही पिलाएं। इसके बाद आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, आशा, सहायिका समय-समय पर गर्भवती महिला के घर पर जाकर उनका ध्यान रख रही हैं ।

टपरे पंचायत में मंगलगीतों से हुई गोद भराई रस्म

गत दिन विभिन्न आंगनबाड़ी केंद्रों में स्वास्थ्य के प्रति लोगों को जागरूक किया गया। इस दौरान गर्भवती टपरे
आंगनबाड़ी केंद्र में गर्भवती महिलाओं की गोद भराई की रस्म पूरी की गई। इस दौरान चार गर्भवती महिलाओं की गोद भराई का आयोजन किया गया। उनका माला पहनाकर स्वागत किया गया। पंचायत प्रधान रजनीश कुमारी चौहान ने बताया कि सुबह 10 बजे से दोपहर 2 बजे तक हुए कार्यक्रम में महिला मंडल टपरे की सदस्य , बुज़ुर्ग महिलाओं व नवविवाहित बहुएं शामिल हुई ।

Most Popular