Monday, May 20, 2024
Homeकांगड़ापब्लिक है, सब जानती है- जीजा-साले को अच्छी तरह से पहचानती है-स्मृति...

पब्लिक है, सब जानती है- जीजा-साले को अच्छी तरह से पहचानती है-स्मृति इरानी

 केंद्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि देश में मानवता को भाजपा ने धर्म बनाया है। यहीं कारण है कि जनता का प्यार भाजपा को मिल रहा है। इसी प्यार की बदौलत भाजपा ने 2014 में केंद्र में सरकार बनाई और अब फिर से 19 मई को जनता देश की बागडोर भाजपा को सौंपेंगी। बुधवार को स्मृति ईरानी पालमपुर में जनसभा को संबोधित कर रहीं थी।

उन्होंने कहा कि वह पहले भी पालमपुर आई थीं, मगर उस दौरान वह मंत्री नहीं थी। एक परिवार में गई तो वहां पर उन्हें मेजर सोमनाथ के बारे में जानकारी मिली। उनकी वीरता की कहानी सुन कर कुछ निश्चय किया था। जब शिक्षा मंत्री का कार्यभार उन्हें मिला तो सबसे पहला निर्णय ही यह किया कि देश में स्कूली बच्चों को शहीदों के बारे में जानकारी मिलें और उनकी जीवनियों को किताबों को डाला गया। 

स्मृति ईरानी ने कांग्रेस पार्टी को लेकर कहा कि वह गरीबों के हितों की बात करती है, मगर देश में इतने साल तक राज करने वाली कांग्रेस बताए कि बीस करोड़ जनता के पास बैंक का खाता तक नहीं था। कांग्रेस ने सेना प्रमुख को गुंडा कहा। वायुसेना पर प्रश्न चिन्ह लगाया। हाथ पर हाथ धरें देख रहीं थी, जब 26/ 11 का हमला हुआ। 84 के दंगों में निर्दोषों को लहूलहान किया गया। मगर भाजपा के कार्यकाल में अगर किसी ने आंख दिखाई तो उसका जवाब उसे मिला। पाकिस्तान को घर में घुसकर ढेर किया गया। कांग्रेस पर हमला करते हुए कहा कि जीजा जी को जमीनें दिलवाने का काम ही किया गया। जीजा जी के पास तीन सौ करोड़ की संपत्ति कहां से आ गई। शादी से पहले तो नहीं थी। ईरानी ने कटाक्ष करते हुए कहा कि यह पब्लिक है, सब जानती है। जीजा-साले को अच्छी तरह से पहचानती है।

स्मृति ईरानी ने जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि आपने शांता कुमार के नेतृत्व को परखा और उसे सराहा। सार्वजनिक तौर पर जनता से मैंने कभी कुछ नहीं मांगा। मगर आज जनता से मांगती हूं कि शांता कुमार के सम्मान के लिए खड़े होकर तालियों से सम्मान करें। जिसके बाद जनसभा में सभी कार्यकर्ताओं ने शांता कुमार को खड़े होकर जय श्री राम के उद्घोष के साथ उन्हें अपना सम्मान और प्यार दिया। स्मृति ने कहा कि वह शांता कुमार को बताना चाहती है कि समाज में राजनीति में सबसे बड़ी पूंजी यह होती है कि जनता और कार्यकर्ता का प्रेम और आशीर्वाद मिले

Most Popular