Sunday, March 3, 2024
Homeहमीरपुरपुलिस ने छः घंटे में ट्रेस कर ली 14 वर्षीय स्कूली छात्रा

पुलिस ने छः घंटे में ट्रेस कर ली 14 वर्षीय स्कूली छात्रा

नैंसी

रजनीश शर्मा
हमीरपुर (टौणी देवी) – लंघवाण रोड पर स्थित स्वाहलवा गावं की 14 वर्षीय बच्ची नैंसी को पुलिस ने 6 घंटे में खोज निकाला है। टौणी देवी चौकी इंचार्ज ज्ञान चंद ने बताया कि बच्ची को गसोता के पास मीना कुमारी पत्नी राजेंद्र सिंह के घर से इसे ट्रेस किया गया। बच्ची को डुग्गा के पास अकेले घुमते देख वे इसे घर ले आए थे। बच्ची के पिता चमन लाल ने बताया कि बच्ची मिल गयी है। आपको बता दें कि बच्ची को तलाश करने के लिए एसएचओ संजीव गौतम के नेतृत्व में चार टीमें डटी हुई थीं।  पुलिस इसे हमीरपुर बाज़ार, स्कूल मैदान , बस स्टैंड तथा इसके आसपास गम्भीरता से तलाश करती रही। फ़िलहाल बच्ची का पता लग जाने से पुलिस व माँ बाप ने राहत की सांस् ली है। मां भी बच्ची तक पहुंच गयी है।औपचारिकताओं के बाद इसे घर पहुंचा दिया गया।
क्या है घटनाक्रम 
नैंसी पुत्री चमन लाल गावं स्वाहलवा डीएवी पब्लिक स्कूल टौणी देवी की आठवीं कक्षा की छात्रा है। रोज़ की तरह वह अपनी छोटी बहन के साथ रात को सोई थी । अक्सर वे पांच बजे पढ़ने के लिए उठ जाती हैं। शुक्रवार को भी दोनों बहनें एक सोई थीं। शनिवार सुबह क़रीब 5:30 बजे नैंसी कमरे से बाहर निकली लेकिन उसका कोई पता न चला। छोटी बहन ने स्वजनों को इस बारे बताया तो तलाश शुरू हो गयी।
डुग्गा  तक पैदल पहुंची बच्ची
स्वाहलवा से टौणी देवी, ठाना दरोगन, कोट , अणु से होते हुए बच्ची हमीरपुर बाज़ार तक पैदल ही पहुंच गयी। एन॰आई॰टी॰ अणु व हमीरपुर बाज़ार में सीसीटीवी फूटेज में क़ैद हुईं बच्ची की तस्वीरें पुलिस के लिए अहम कड़ियां बनती गयीं। वह डुग्गा तक पैदल चली गयी जहां से उसे मीना कुमारी पत्नी राजेंद्र सिंह गसोता अपने घर ले आए।
एसपी हमीरपुर अर्जित सेन ठाकुर ने क्या बताया 
इस बारे एसपी हमीरपुर अर्जित सेन ठाकुर ने बताया कि शनिवार सुबह लगभग 7:45 बजे बच्ची नैंसी के लापता होने के बारे में एक रिपोर्ट प्राप्त हुई। स्थानीय निवासियों के साथ पुलिस टीमों ने लापता बच्ची की तलाश शुरू की। हमीरपुर शहर में लगे सीसीटीवी कैमरों से 6 घंटे की खोज और पहचान करने के बाद, जहां लड़की को चलते देखा गया था, लड़की को आखिरकार गसोता से मीना कुमारी पत्नी राजेंद्र सिंह के घर से ट्रेस किया गया। इन्होंने डुग्गा के पास सड़क पर बच्चे को अकेले घूमते हुए पाया था और इसे अपने घर ले गया। लड़की के अनुसार वह रास्ता भटक गई थी और तब तक चलती रही जब तक कि उसका पता नहीं चल पाया। बच्ची को माता-पिता को सौंप दिया गया।है। 

Most Popular