Sunday, May 19, 2024
Homeकुल्लू6 माह की आयु के बाद बच्चों को उपरी आहार दिया जाना...

6 माह की आयु के बाद बच्चों को उपरी आहार दिया जाना जरूरी: वीरेंद्र आर्य

रेणुका गौतम
पोषण माह के रूप में मनाया जाएगा दिसम्बर का महीना
जिला स्तर पर आयोजित होंगे कई जागरूकता कार्यक्रम

  • जन्म के 6 माह बाद बच्चे को उपरी आहार व पूरक पोषाहार दिया जाना अत्यंत आवश्यक है ताकि बच्चे का पूर्ण रूप से शाररिक व मानसिक विकास हो सके। क्योंकि 6 माह की आयु के बाद बच्चे की वृद्धि होने से मां का दूध बच्चे के लिए पेट भर आहार नहीं हो पाता है। इसलिए बच्चे को अतिरिक्त आहार के रूप में सूजी की खीर, दलिया, फल आदि अन्य खाद्य पदार्थ मसल कर एक-एक घंटे के अंतराल में दिया जाना आवश्यक है। लेकिन माता का दूध भी बच्चे को लगातार पिलाते रहना चाहिए। जिला से ग्रामीण स्तर तक लोगों को इस बारे में जागरूक करने के उददेश्य से दिसम्बर के सम्पूर्ण महीने को पोषण माह के रूप में मनाया जाएगा।
  • जिला कार्यक्रम अधिकारी कुल्लू वीरेंद्र सिंह आर्य ने जानकारी देते हुए बताया कि इस कार्यक्रम के दौरान 1 दिसम्बर से 7 दिसम्बर तक पूर्ण पोषण सप्ताह आयोजित होगा। जबकि अन्य दिनों में जागरूकता के लिए नुकडड़ किए जाएंगे, हाट बाजार सजाया जाएगा, प्रभात फेरी तथा सेमीनारों के साथ-साथ पोषण मेले का भी आयोजन होगा। ग्राम स्तरीय स्वच्छता, स्वास्थ्य एवं पोषण संबंधी जागरूकता के लिए जिला की सभी आंगनवाड़ी स्तर पर इसकी चर्चा होगी। शहर से लेकर ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों को कार्यक्रम का हिस्सा बनाया जाएगा। इसके अतिरिक्त गर्भवती महिलाओं को भी पूर्ण पोषाहार के बारे में जागरूक किया जाएगा। जिला कार्यक्रम अधिकारी वीरेंद्र सिंह आर्य ने समस्त जिलावासियों से इस पोषण माह/अभियान का लाभ उठाने का आग्रह किया है।

Most Popular