Wednesday, June 19, 2024
Homeकुल्लूशारीरिक व मानसिक विकास के लिए खेलें महत्वपूर्ण: गोविंद ठाकुर

शारीरिक व मानसिक विकास के लिए खेलें महत्वपूर्ण: गोविंद ठाकुर

रेणुका गौतम

कुल्लू : खेलों का जीवन में बहुत महत्व है। खेल से व्यक्ति का शारीरिक व मानसिक विकास होता है। स्वस्थ व्यक्ति स्वस्थ समाज के निर्माण में अधिक योगदान करने की क्षमता रखता है। यह बात युवा सेवाएं एवं खेल मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर ने आज कुल्लू के ऐतिहासिक ढालपुर मैदान में छात्रों की 62वीं राज्य स्तरीय खेलकूद प्रतियोगिताओं के शुभारंभ अवसर पर कही। उन्होंने द्वीप प्रज्जलित करके विधिवत ढंग से खेलकूद प्रतियोगिताओं का उद्घाटन किया।
चार दिवसीय राज्य स्तरीय स्कूली टूर्नामेन्ट में प्रदेश के सभी जिलों तथा छः खेल हाॅस्टलों से 850 छात्र भाग ले रहे हैं।
गोविंद ठाकुर ने खिलाड़ियों को संबोधित करते हुए उन्हें राज्य स्तर पर खेलने के लिए बधाई दी। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार खेलों को प्रोत्साहित करने के लिए हर संभव प्रयास कर रही है। खेल परिसरों और मैदानों को विकसित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि खेल विभाग ने खिलाड़ियों की डाईट राशि को 120 रुपये से बढ़ाकर 250 रुपये जबकि बाहरी प्रदेशों में भाग लेने वाले खिलाड़ियों के लिए यह राशि 200 रुपये से बढ़ाकर 400 रुपये की है। उन्होंने कहा कि स्कूली स्तर की प्रतियोगिताओं में डाईट मनी को बढ़ाने के लिए वह मुख्यमंत्री तथा शिक्षा मंत्री से मामला उठाएंगे।
खेल मंत्री ने खिलाड़ियों का आहवान किया कि वे खेल की भावना को अधिक महत्व दें। मेडल जीतने से अधिक महत्वपूर्ण है कि व्यक्ति ऐसे मौकों पर बहुत कुछ सीखता है। उसके जीवन में अनुशासन आता है, विभिन्न जगहों के खिलाड़ियों के साथ परस्पर संवाद से प्रेम व सौहार्द्ध की भावना उत्पन्न होती है। इन सब अनुभवों से व्यक्ति का मनोबल बढ़ता है जो जीवन में सफलता हासिल करने के लिए अत्यंत आवश्यक है।
गोविंद सिंह ठाकुर ने कहा कि सरकार ने नई खेल नीति बनाई है जो खिलाड़ियों के लिए जल्द ही लाई जाएगी। उन्होंने कहा कि यह नीति बहुत से सुझावों को प्राप्त करने तथा खेल जगत से जुड़े सभी पहलूओं को ध्यान में रखते हुए तैयार की गई है।
युवा सेवाएं एवं खेल मंत्री ने खेल-कूद प्रतियोगिताओं के आयोजन के लिए 50,000 रुपये की राशि की घोषणा की।
खेल विभाग के सहायक निदेशक प्रितम धौलटा ने कहा कि हि.प्र. स्कूल क्रीड़ा संघ प्रतियोगितओें को विभिन्न छः चरणों में आयोजित कर रहा है। यह प्रतियोगिता छात्रों के लिए आयोजित की गई है जिसमें कुल आठ खेलों को शामिल किया गया है। इन खेलों में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों को राष्ट्रीय स्तर की खेलों में भाग लेने का अवसर मिलेगा। उन्होंने कहा कि पिछले वर्ष प्रदेश के 499 खिलाड़ियों ने राज्य स्तरीय प्रतियोगिताओं में भाग लेकर राज्य के लिए आठ स्वर्ण, आठ रजत तथा 12 कांस्य पदक जीते थे। इसी प्रकार खेलो इण्डिया यूथ गेम्ज में प्रदेश के खिलाड़ियों ने 11 मैडल हासिल किए थे। उन्होंने खिलाड़ियों की दैनिक डाईट राशि तथा अनुदान को बढ़ाने का आग्रह किया।
इससे पूर्व, उपनिदेशक उच्च शिक्षा बलवंत ठाकुर ने स्वागत करते हुए कहा कि कुल्लू में राज्य स्तरीय खेलों की मेजबानी करना गौरव की बात है।
खिलाड़ियों ने इस अवसर पर आकर्षक मार्च पास्ट भी प्रस्तुत किया।
नगर परिषद की पार्षद अनिता शर्मा, वर्षा, एपीएमसी के अध्यक्ष अमर ठाकुर, उपाध्यक्ष जिला भाजपा अरविंद चंदेल, राज्य योजना बोर्ड के सदस्य युवराज बोद्ध, हिमाचल खेल संघ के प्रतिनिधि तथा अन्य व्यक्ति भी इस अवसर पर मोजूद रहे।

Most Popular