Sunday, March 3, 2024
Homeमंडीजंजैहली में गौशाला चढ़ी आग की भेंट

जंजैहली में गौशाला चढ़ी आग की भेंट

भीषण आगजनी में 12 कमरों की गौशाला के साथ सेब का बगीचा झुलसा, 25 लाख का नुक्सान

मृगेंद्र पाल

गोहर (मंडी) : जिला मंडी के सराज उपमंडल के जंजैहली में सुबह करीब 11 बजे एक गौशाला में आग भड़क उठी। आगजनी की इस घटना में 12 कमरे पूरी तरह राख हो गए, इसी के साथ सेब का बगीचा भी झुलस गया। गौशाला संयुक्त रूप से 11 लोगों की थी, जोकि आपस में रिश्तेदार हैं। पास के पड़ोसीयों ने गौशाला से आग की लपटें निकलती देखी तो आग बुझाने के लिए लोग चिल्लाये। एक स्थानीय युवक ने हिम्मत दिखाते हुए गौशाला में बंधे हुए सभी मवेशियों को जल्दी से बाहर निकाला और जंगल की ओर भगा दिए। जब तक आग पर काबू पाने के लिए बड़ी संख्या में लोग घटनास्थल पर पहुंचते। तब तक आग ने विकराल रूप धारण कर लिया था। लोगों ने घरों से पानी निकालकर आग पर काबू पाने का भरसक प्रयास किया, लेकिन आसमान छूती आग की लपटों पर काबू पाना नामुमकिन था। गौशाला दोमंजिला थी और इसमें सूखा घास रखा हुआ था। घास को आग लग चुकी थी जिससे आग की लपटें बड़ी होती गयी।

थाना प्रभारी जंजैहली सुरेंद्र कुमार ने आगजनी की सूचना अग्निशमन विभाग को दी। अग्निशमन विभाग के कार्यालय थुनाग से एक घंटे बाद अग्निशमन की गाड़ी पहुंची लेकिन गाड़ी के।टैंक में पानी खत्म हो जाने से एन मौके पर गाड़ी जबाब दे गई। आसपास के घरों में भी पानी खत्म हो गया। जिससे समय पर आग पर काबू नहीं पाया जा सका। देखते ही देखते 12 कमरे जलकर राख हो गये।

आगजनी से जंजैहली निवासी हेम सिंह, प्रताप पुत्र राम सिंह, बलदेव, रमेश, चमन लाल, शक्ति प्रसाद, हंसराज पुत्र वामन देव, सावित्री देवी, महेंद्र पुत्र उत्तम सिंह व शेर सिंह, लाल सिंह पुत्र शिवलाल के परिवार प्रभावित हुए हैं। प्रशासन की ओर से हल्का के पटवारी व कानूनगो ने मौका पर जाकर नुकसान का आकलन 22 लाख रुपये लगाया है। साथ ही सेब की फसल का नुक्सान 3 लाख आंका गया है। प्रभावितों को प्रशासन की ओर से 11 हजार की फौरी राहत प्रदान कर दी गई है।

एसडीएम थुनाग सुरेंदर मोहन ने बताया कि आगजनी से किसी के भी जानमाल का नुकसान नहीं हुआ है। गौशाला में बंधे लगभग 45 मवेशियों को सुरक्षित निकल लिया गया है। 12 कमरों सहित गोबर मैल के 12 बड़े ढेर पूरी तरह जलें है। साथ ही सेब का बगीचा भी झुलसा है।

Most Popular