Saturday, July 13, 2024
Homeदेशभारत का सपना टूटा, न्यूजीलैंड दूसरी बार फाइनल में

भारत का सपना टूटा, न्यूजीलैंड दूसरी बार फाइनल में

मैनचेस्टर: न्यूजीलैंड ने आईसीसी क्रिकेट विश्व कप 2019 के सेमीफाइनल में भारत को 18 रनों से हराकर फाइनल में प्रवेश कर लिया। अब उसका सामना ऑस्ट्रेलिया और मेजबान इंग्लैंड के बीच होने वाले दूसरे सेमीफाइनल के विजेता से होगा। न्यूजीलैंड द्वारा निर्धारित 240 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए भारत की पूरी टीम 50 ओवरों में 221 रन ही बना सकीं। भारत के 3 विकेट झटकने वाले मैट हैनरी को प्लेयर ऑफ द मैच घोषित किया गया।

इसी के साथ जहां विश्व कप जीतने का भारत का सपना टूट गया, वहीं ये लगातार दूसरा मौका है जब न्यूजीलैंड ने विश्व कप के फाइनल में प्रवेश किया। पिछले विश्व कप के फाइनल में उसे ऑस्ट्रेलिया से हार का सामना करना पड़ा था। रिजर्व डे पर शुरुआत खराब रही जब उसे शुरुआती तीन झटके लगे। भारत ने 240 रनों के टारगेट का पीछा करने उतरे भारत ने केवल रनों में ही 3 विकेट खो दिए थे। भारत को पहला झटका मैट हैनरी ने दिया जब उन्होंने जबर्दस्त फॉर्म में चल रहे रोहित शर्मा को विकेटकीपर टॉम लाथम के हाथों झिलवाया। रोहित ने 1 रन बनाया। अभी भारत इस सदमे से उबरा भी नहीं था कि ट्रेंट बोल्ट ने विराट कोहली (1) को एलबीडब्ल्यू कर दिया। विराट ने रिव्यू लिया लेकिन फैसला उनके खिलाफ ही रहा और भारत ने 5 रनों पर 2 विकेट गंवा दिए। मैट हैनरी ने अपने अगले ओवर में केएल राहुल (1) को लाथम के हाथों झिलवाया और भारत 5 रनों पर 3 विकेट खोकर संकट में आ गया। इसके बाद रिषभ पंत और दिनेश कार्तिक ने विकेटों के इस पतन पर रोक लगाई। दोनों ने संभलकर बल्लेबाजी कर स्कोर आगे बढ़ाया। दोनों टिककर खेल रहे थे तभी मैट हैनरी ने कार्तिक का विकेट झटक लिया। जेम्स नीशम ने उनका शानदार डाइव लगाकर कैच लिया। कार्तिक केवल 6 रन बना पाए। रिषभ पंत अच्छी बल्लेबाजी कर रहे थे। उन्होंने जरूर कुछ शॉट्स खेलकर भारत की उम्मीदें बनाए रखीं। पंत और हार्दिक ने पारी आगे बढ़ाई और टीम का स्कोर 70 पार पहुंचाया। अभी ये साझेदारी कुछ उम्मीदें जगा रही थी कि सेंटनर की गेंद पर एक ऊंचा शॉट खेलने की कोशिश में पंत को ग्रैंडहोम ने कैच किया। पंत ने 56 गेंदों में 4 चौकों की मदद से 32 रन बनाए। पंत के आउट होने के बाद हार्दिक और धोनी ने भारतीय पारी को आगे बढ़ाया। हार्दिक अच्छी लय में दिख रहे थे और रन भी बटोर रहे थे। लेकिन उन्होंने भी वही गलती की जो पंत ने की। सेंटनर की गेंद पर शॉट मारने की कोशिश में टॉप एज लगा और हार्दिक कैच आउट हो गए। कप्तान विलियम्सन ने उनका कैच लिया।

हार्दिक ने 62 गेंदों में 2 चौकों की मदद से 32 रन बनाए। इसके बाद धोनी और जडेजा ने भारत के लिए उम्मीदें जिंदा रखीं। दोनों एक बेहद मुश्किल लक्ष्य पर ध्यान रखते हुए बल्लेबाजी कर रहे थे। खासतौर से जडेजा ने आज लाजवाब पारी खेली। उन्होंने हावी रहे न्यूजीलैंड के गेंदबाजों पर आक्रामण करना शुरू किया। इसका नतीजा ये रहा कि भारत का स्कोर तेजी से आगे बढ़ रहा था। धोनी ने मेंटर की भूमिका निभाते हुए एक-एक, दो-दो रन लिए और ज्यादातर स्ट्राइक जडेजा को देने की कोशिश की। इसी दौरान जडेजा ने अपने करियर का 11वां अर्द्धशतक केवल 39 गेंदों में पूरा किया। दोनों के बीच शतकीय साझेदारी भी हुई। जिस समय ये जोड़ी न्यूजीलैंड के लिए सबसे बड़ा खतरा नजर आ रही थी, उसी समय बोल्ट ने जडेजा को विलियम्सन के हाथों कैच करा दिया। जडेजा ने केवल 59 गेंदों में 4 चौकों, 4 छक्कों की मदद से 7 रन बनाए। ये भारत के लिए बड़ा झटका साबित हुआ। इसके अगले ही ओवर में धोनी भी दुर्भाग्यपूर्ण तरीके से रन आउट हुए। गप्टिल ने काफी दूर से थ्रो किया जो सीधे स्टम्प्स पर लगा और भारत की उम्मीदें ध्वस्त हो गई। धोनी का ये अंतिम विश्व कप था, लेकिन उनकी बिदाई बेहद निराशाजनक रही। उन्होंने 72 गेंदों में 50 रन (1 चौका, 1 छक्का) बनाए। इसके बाद भारत ने भुवनेश्वर कुमार और चहल के विकेट खोए और भारत मैच हार गया।

इसी के साथ न्यूजीलैंड ने फाइनल में जगह बना ली। ये उसका लगातार दूसरा विश्व कप फाइनल होगा। अब उसका सामना ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच गुरुवार को होने वाले दूसरे सेमीफाइनल के विजेता से होगा। न्यूजीलैंड की ओर से मैट हैनरी ने 3 और ट्रेंट बोल्ट और मिचेल सेंटनर ने 2-2 विकेट लिए। इससे पहले न्यूजीलैंड ने मंगलवार को बारिश के कारण खेल रोके जाने तक 46.1 ओवरों में 5 विकेट पर 211 रन बनाए थे। इस वक्त रॉस टेलर 67 और टॉम लाथम 3 रन बनाकर क्रीज पर थे। इसके बाद खेल नहीं हो पाया था। बुधवार को निर्धारित समय पर न्यूजीलैंड की पारी इससे आगे शुरू हुई। टेलर जोखिमभरा रन चुराने के प्रयास में रवींद्र जडेजा के डायरेक्ट थ्रो पर रन आउट हुए। उन्होंने 90 गेंदों में 3 चौकों और 1 छक्के की मदद से 74 रन बनाए। भुवनेश्वर की अगली गेंद पर रवींद्र जडेजा ने मिडविकेट बाउंड्री पर टॉम लाथम का शानदार कैच लपका। उन्होंने 10 रन बनाए। भुवी ने ओवर की अंतिम गेंद पर मैट हैनरी को विराट कोहली के हाथों झिलवाया। भुवी सबसे सफल गेंदबाज रहे, उन्होंने 43 रनों पर 3 विकेट लिए। मेनचेस्टर के ओल्ड ट्रेफर्ड में खेले जा रहे सेमीफाइनल पर बारिश का ग्रहण लगा हुआ है। मंगलवार को क्रिकेट प्रेमियों को निराशा हाथ लगी और लगातार हो रही बारिश के कारण भारत और न्यूजीलैंड के बीच खेला जा रहा मैच सस्पेंड करना पड़ा। आईसीसी के नियमों की वजह से भारत फाइनल में पहुंचेगा। भारत को राउंड रॉबिन दौर में नंबर वन टीम होने का फायदा मिलेगा। इस टूर्नामेंट के नियमों के अनुसार सेमीफाइनल में निर्धारित दिन और रिजर्व दिन में यदि मैच का परिणाम नहीं निकलता है तो लीग दौर में बेहतर पोजीशन में रहने वाली टीम को विजेता घोषित किया जाएगा। भारत ने राउंड रॉबिन दौर का समापन 15 अंकों के साथ पहले स्थान पर रहते हुए किया था जबकि न्यूजीलैंड 11 अंकों के साथ चौथे स्थान पर रहा था। इस तरह भारत सेमीफाइनल में बगैर बल्लेबाजी किए भी फाइनल में पहुंच सकता है। इस तरह अब यदि खेल शुरू नहीं हो पाता है तो यह भारत के लिए अच्छा रहेगा। यदि स्थिति सुधरी और अंपायरों को लगा कि परिणाम निकल सकता है तो वे भारत को 20 ओवरों में जीत के लिए संशोधित लक्ष्य दिया जाएगा। इस स्थिति में भारत को 20 ओवरों में जीत के लिए 148 रनों का संशोधित लक्ष्य दिया जाएगा।

Most Popular