Monday, May 20, 2024
Homeमंडीलोकतंत्र के महात्योहार में सभी लें भाग : ऋग्वेद

लोकतंत्र के महात्योहार में सभी लें भाग : ऋग्वेद

मृगेंदरपाल

मंडी : भारत देश में सबसे बड़ी लोकतांत्रिक व्यवस्था है। संविधान ने हमें संविधानिक अधिकार देते मताधिकार का प्रयोग करने का अधिकार दिया हैं। यह बात उपायुक्त मंडी रिंग्वेद ठाकुर ने मंडी जिला की अभिलाषी यूनिवर्सिटी चैलचौक में “हर वोट कुछ कहता है” के कार्यक्रम में छात्रों को संबोधित करते हुए कहे। उन्होंने कहा कि अंग्रेजी हुकूमत के बाद सरकार ने वोट प्रणाली लागू की थी। जिसे शुरू करने का मुख्य उद्देश्य बहुमत से चुने गए नेता को बागडौर सौंपना था। यह प्रणाली लागू होने से लोग खुश थे, क्योंकि अंग्रेजों के शासनकाल में लोगों को वोट देकर अपना नेता चुनने का अधिकार नहीं था। लेकिन आज के युवा अपने वोट की ताकत को भूलते जा रहे है। वे अपने वोट को अकेला समझते है और कतार में खड़े रहने से बचने के लिए वोट नहीं देते, लेकिन शायद वे इस बात को नहीं जानते की उनका एक वोट उनके चुने हुए नेता को जीत दिलवा सकता है। वोटिंग के संदर्भ में देश की स्थिति देखें तो देशहित में छोटी सोच से उपर उठकर मतदान करने चाहिए। उपायुक्त ने कहा कि छात्रों के बीच वोट का महत्व बताना इसलिए जरूरी है क्योंकि आज का छात्र देश का कर्णधार है। देश की सेवा करने का अवसर बहुत कम लोगों को ही मिलता है, जिनमें देश के सैनिक भी शामिल है जो देह की सीमाओं की रक्षा के लिए दिन रात डटे रहता है। आपके द्वारा चुना हुआ नेता आपकी आवाज होता है जो सरकार के समक्ष आपकी समस्याओं को रखता है। वोट देना सबका अधिकार है वोट के लिए किसी को मजबूर नहीं किया जा सकता। हर व्यक्ति के अंदर देश के महात्योहार के लिए स्वयं प्रेरणा से अपने घरों से निकलना चाहिए। इस मौके पर उन्होंने सभागार में मौजूद छात्रों व यूनिवर्सिटी के स्टॉफ को मतदान करने की शपथ दिलाई। इस अवसर पर नोडल अधिकारी बीडीओ गोहर निशांत शर्मा, विश्वविद्यालय के डीन कपिल कुमार सहित प्राध्यापक गण मौजूद रहे।

निर्भीकता से करें मतदान

अभिलाषी यूनिवर्सिटी के उपकुलपति डीएस गुलेरिया  ने जागरण के प्रायोजित कार्यक्रम में भारत की लोकतांत्रिक व्यवस्था को सुदृढ करने के लिए मतदान के महत्व पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि देश की तरकी के लिए अधिक से अधिक मतदान जरूरी है। भारत देश सबसे लोकप्रिय देशों में एक है क्योंकि यहां की डेमोक्रेसी सबको पसंद है। आज के इस दौर में भी लगभग 60 प्रतिशत लोग ही वोट डालते हैं। जबकि लगभग 40 प्रतिशत लोग वोट डालने नहीं जाते । जिसका सीधा असर चुनावों पर देखने को मिलता है और 20 से 30 प्रतिशत हासिल करने वाले चुनाव जीत जाते है। गुलेरिया ने बताया कि हमें अपने देश के विकास में हमेशा बढ़चढ़ भाग लेना चाहिए व एक जिम्मेवार नागरिक की भूमिका अदा करनी चाहिए। उन्होंने यूनिवर्सिटी के छात्रों से कहा कि निर्भीकता से अपने मत का प्रयोग करें ताकि आपका वोट देशहित के काम आए।

छात्रों ने कही पते की बात
कार्यक्रम के दौरान अभिलाषी संस्थान के चैल पब्लिक स्कूल के छात्रों ने पते की बात नाटक के माध्यम से मतदान की अपील की। लघुनाटिका के माध्यम से छात्रों ने वोट न देने वालों पर कड़े प्रहार किया। छात्र नेता के किरदार में एक छात्र ने 19 मई को वोट डालने की अपील भी की। छात्रों ने सभागार में मौजूद लोगों से खूब तालियां बटोरी। मतदान जरूरी काम है, सभी करें मतदान की पते की बात कहकर नाटक समाप्त किया।

Most Popular