Saturday, March 2, 2024
Homeशिमलासंविधान दिवस पर शिमला में राज्य स्तरीय समारोह आयोजित

संविधान दिवस पर शिमला में राज्य स्तरीय समारोह आयोजित

सविंधान दिवस

संविधान दिवस के अवसर पर राज्य स्तरीय समरोह आज गयेटी थियेटर में आयोजित किया गया। राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय समरोह में मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित थे जबकि मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने समारोह की अध्यक्षता की।
राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय ने इस अवसर पर कहा कि यह हमारे संविधान की विशेषता है कि इसने विश्व के सबसे बडे़ लोकतंत्र भारत की उन्नति में प्रमुख भूमिका निभाई है। डाॅ. भीम राव अम्बेडकर के भारतीय संविधान में महत्वपूर्ण योगदान से भारत के नागरिक लाभान्वित हुए हैं। भारतीय नागरिकों को न्याय, समानता, स्वतंत्रता देने के लिए भारतीय संविधान को अपनाया गया था। संविधान को अपनाने के बाद देश के नागरिकों ने नए संवैधानिक, वैज्ञानिक भारत में प्रवेश किया जिसने शान्ति, नम्रता और विकास का सूत्रपात किया।
श्री दत्तात्रेय ने कहा कि भारतीय संविधान समस्त विश्व के लिए एक विशिष्ट दस्तावेज है, और इस महान योगदान देने के लिए बाबा सहिब को कभी भुलाया नहीं जा सकता। हमारा संविधान नागरिकों के कत्र्तव्यों और अधिकारों में सन्तुलन बनाए रखता है जो हमारे संविधान की विशेषता है। उन्होंने कहा कि वर्तमान समय में मौलिक कत्र्तव्यों पर ध्यान देने की विशेष आवश्यकता है। समाज में तब तक प्रजातंत्र की पूर्ण स्थापना संभव नहीं जब तक नागरिकों के मौलिक कत्र्तव्यों को उनके अधिकारों के साथ न जोड़ा जाए।
राज्यपाल ने कहा कि भारतीय संविधान स्वतंत्र न्यायपालिका, प्रशासन और स्वतंत्र विधायिका को महत्व प्रदान करता है। लोकतंत्र का चैथा स्तम्भ निष्पक्ष और निडर मीडिया इसे अधिक सशक्त बनाता है। उन्होंने कहा के देश की उन्नति के लिए संवैधानिक कत्र्तव्यों की ओर अधिक ध्यान देेने की आवश्यकता है।
संविधान दिवस के अवसर पर उन्होंने उपस्थित लोगों को शपथ भी दिलाई।
मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने इस अवसर पर कहा कि वर्ष 1949 में आज ही के दिन भारत के संविधान को अपनाया गया और 26 जनवरी, 1950 को लागू किया गया। संविधान दिवस आयोजित करने का उद्देश्य भारतीय संविधान के महत्व और इसके रचनाकार डाॅ. बी.आर. अम्बेडकर के बारे में जागरूकता उत्पन्न करना है।
उन्होंने कहा कि भारतीय संविधान की भूमिका प्रजातंत्र की रक्षा करना, देश की एकता, सौहार्द और अखंडता को हर कीमत पर बनाए रखना है। भारतीय संविधान देश के सभी कानूनों से ऊपर है और सरकार द्वारा लागू किया जाने वाला प्रत्येक कानून संविधान के अनुपालन में होता है।

विधायक राकेश जम्बाल और रीना कश्यप, हिमफैड के अध्यक्ष गणेश दत्त, विपणन बोर्ड के अध्यक्ष बलदेव भंडारी, कैलाश फैडरेशन के अध्यक्ष रवि मेहता, उप महापौर राकेश शर्मा, सचिव सामान्य प्रशासन देवेश कुमार इस अवसर पर उपस्थित थे

Most Popular