Wednesday, January 27, 2021
Home मंडी सुंदरनगर :चुनावी समीकरण ..पांच बजे थमा प्रचार,दस तारीक को होगा भाग्य का...

सुंदरनगर :चुनावी समीकरण ..पांच बजे थमा प्रचार,दस तारीक को होगा भाग्य का फैसला

मंडी : प्रदेश में नगर निकाय के चुनाव प्रदेश में दस जनवरी को होने वाले हैं l जिसमें 50 नगर परिषदों व नगर पंचायतों के 1196 प्रत्याशियों के भविष्य का फैसला 2.81 लाख मतदाता करेंगे। इसके लिए राज्य चुनाव आयोग ने सभी प्रबंधों को पूरा कर लिया है। शुक्रवार को नगर निकाय के इन चुनाव के लिए प्रचार शाम पांच बजे थम गया। नगर परिषद व नगर पंचायतों के 411 वार्ड के लिए 281536 मतदाता मत का प्रयोग करेंगे। इनमें 51.37 फीसद पुरुष मतदाता और 48.62 महिला मतदाता हैं। बात करें मुख्यमंत्री के गृह क्षेत्र मंडी के सुंदरनगर की तो यहां कई साल से जोड़ तोड़ का बोलबाला रहा है। यहां कुर्सी के लिए समय के साथ दोनों प्रमुख दलों भाजपा व कांग्रेस समर्थित पार्षद अपनी आस्था बदलते रहे हैं। पांच साल पहले यही खेल खेला गया था। हार जीत के इस खेल में स्थानीय नेताओं की अहम भूमिका रही है। नेताओं के हस्तक्षेप के बिना यहां अध्यक्ष पद किसे मिलेगा तय नही होता है।

2010 में पार्टी चिह्न पर हुए सीधे चुनाव में अध्यक्ष पद पर भाजपा काबिज हुई थी। उपाध्यक्ष पद कांग्रेस के हाथ लगा था। पांच साल तक इस पद पर रहने वाली गिरिजा गौतम भाजपा की तरफ से पहली अध्यक्ष बनी थी। हालांकि इससे पहले भी 2000 में बाजी भाजपा के हाथ लगी थी, मगर पार्षदों की गुटबाजी के चलते भाजपा को ढाई साल बाद अध्यक्ष बदलना पड़ा था। 2005 के चुनाव में कांग्रेस नेता सोहन लाल ठाकुर को नीचा दिखाने के लिए कांग्रेस के एक नेता ने भाजपा के समर्थन से अध्यक्ष पद पर कब्जा कर लिया था। इस बार के चुनाव में 13 वार्डों में कुल 47 प्रत्याशी मैदान में हैं। सबसे अधिक 8 प्रत्याशी बनेड़ वार्ड से हैं। चांगर वार्ड में भाजपा व कांग्रेस समर्थित प्रत्याशियों में सीधी टक्कर है। आठ वार्डों में तीन-तीन प्रत्याशी है। इस बार अध्यक्ष पर अनारक्षित है। पुंघ वार्ड से चुनाव लड़ रहे भाजपा समर्थित जितेंद्र शर्मा अध्यक्ष पद के प्रबल दावेदार हैं। वह तीन बार पार्षद रह चुके हैं। उन्हें स्थानीय विधायक राकेश जम्वाल का आशीर्वाद प्राप्त है। अपने प्रत्याशियों की जीत सुनिश्चित करने के लिए भाजपा ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है।

विधायक राकेश जम्वाल ने मोर्चा संभाल लिया है। वह सभी वार्डों में जाकर प्रत्याशियों के साथ विकास के नाम पर वोट मांग रहे हैं। कांग्रेस भी वापसी के लिए संघर्षरत है। पश्चिमी कॉलोनी से रक्षा धीमान चौथी बार चुनाव लड़ रही रक्षा धीमान हैट्रिक लगा चुकी है अब चौका मारने की फिराक में हैं। निवर्तमान पार्षदों में रक्षा धीमान ही अकेली ऐसी है जो चुनाव मैदान में हैं। इसके अलावा तीन मनोनीत पार्षद जितेंद्र शर्मा, चिंता डोगरा व विमल शर्मा भी किस्मत आजमा रहे हैं।

Most Popular

Recent Comments