Monday, March 4, 2024
HomeUncategorizedरोम जलता रहा, नीरो बांसुरी बजाता रहा : राणा

रोम जलता रहा, नीरो बांसुरी बजाता रहा : राणा

देश के हालातों पर सुजानपुर के विधायक राजेंद्र राणा ने कसा तीखा तंज

कहा : देश बदहाली की ओर बढ़ रहा, हुक्मरानों को सब ठीक लग रहा

हमीरपुर

: देश के बिगड़ते हालातों व चरमराई अर्थव्यवस्था को लेकर सुजानपुर के कांग्रेस विधायक श्री राजेंद्र राणा जी ने केंद्र सरकार पर तीखा तंज कसते हुए कहा है कि रोम जलता रहा और नीरो बांसुरी बजाता रहा वाला इतिहास दोहराया जा रहा है।जारी प्रेस विज्ञप्ति में राजेंद्र राणा ने कहा कि केंद्र सरकार स्पष्ट करे कि जिस तरह तानाशाही कर 8 नवम्बर, 2016 को नोटबंदी का फरमान जारी किया था, उससे देश व जनता को क्या फायदा हुआ।क्या आतंकवाद रूक गया और क्या कालाधन वापस आया है।उन्होंने कहा कहा कि क्या जाली करंसी बंद हो गई। नोटबंदी के साथ जीएसटी ने आग में घी डालने का काम किया, जिससे देश की अर्थव्यवस्था पटरी से नीचे उतर चुकी है।उन्होंने कहा कि देश में अघोषित एमरजेंसी जैसे हालात बन गए हैं।उन्होंने कहा कि 6 साल से देश में भय का माहौल बना हुआ है।एनसीआर व नागरिकता संशोधन कानून लाकर पूरे देश में असमंजस की स्थिति बना दी है।अपने ही देश में साबित करना होगा कि वह यहां के नागरिक हैं या नहीं।राजेंद्र राणा ने कहा कि पहले ही देश में जनसंख्या विस्फोटक स्थिति में है और अब दूसरे मुल्कों के लोगों को भी भारत में बसाने की बात की जा रही है।उन्होंने कहा कि देश में भूखमरी दर बिगड़ चुकी है तथा बेरोजगारी चरम सीमा पर है, लेकिन सरकार ऐसे मुद्दों से जनता का ध्यान भटकाने के लिए ऐसे कानून ला रही है, जिनसे देश नफरत की आग में झुलसने लगा है।ऐसे बिगड़े व बदतर हालातों में भी सरकार को सब कुछ ठीक नजर आ रहा है। उन्होंने कहा कि देश के हुक्मरानों को देश में मची तबाही नहीं दिख रही है। राजेंद्र राणा ने कहा कि रियासतों के समय भी राजा अपनी प्रजा व राज्य का हालचाल जानने गुप्तचर भेजते थे जोकि राज्य के हालातों से राजा को अवगत करवाते थे और उसी प्रकार राजा शासन चलाते थे, ताकि उनके राज्य का वैभव दिन दोगुनी तरक्की करे लेकिन वर्तमान में देश में रोम की घटना की तरह बुरे हाल हैं। देश की दिनप्रतिदिन बिगड़ती अर्थव्यवस्था व अन्य समस्याओं को सुलझाने की बजाए सत्ता चलाने वाले मजे ले रहे हैं तथा अभी भी अच्छे दिनों का हवाला दिया जा रहा है। उन्होंने आगाह करते हुए कहा कि अगर देश को वर्तमान में ही नहीं संभाल गया तो देश व देशवासियों को सरकार के कारण बड़ा नुक्सान झेलना पड़ेगा।

Most Popular