Friday, December 4, 2020
Home कांगड़ा सरकार ने मजबूर हो वापस ली शांता कुमार की एस्कॉर्ट सुविधा

सरकार ने मजबूर हो वापस ली शांता कुमार की एस्कॉर्ट सुविधा

सरकार ने आखिर पूर्व मुख्यमंत्री शांता कुमार की एस्कॉर्ट सुविधा काे सशर्त वापस ले लिया है। हालांकि पूर्व मुख्यमंत्री के अन्य राज्याें के प्रवास पर एस्कॉर्ट सुविधा उपलब्ध करवाई जाएगी। लेकिन स्थायी रूप से मिली एस्काॅर्ट गाड़ी व स्टाफ काे सरकार ने बुला लिया है।

स्मरण हाे शांता कुमार ने 24 जून काे प्रदेश मुख्यमंत्री काे पत्र लिखकर सुविधा लाैटाने का पत्र भेजा था। लेकिन काेई कार्रवाई नहीं होने पर शांता कुमार ने पहली जुलाई से एस्कॉर्ट सुविधा काे पूरी तरह से बंद करते हुए उपयोग तक नहीं किया। करीब साढ़े चार माह तक लाेक निर्माण विभाग में बिना इस्तेमाल जंग खा रहे वाहन काे आखिरकार सरकार काे वापस लेने के लिए मजबूर कर दिया।

अब शांता कुमार से सरकार ने एस्काॅर्ट सुविधा सशर्त वापस लेने का निर्णय लिया है। बताया जा रहा है इस संदर्भ में संबंधित विभाग से शांता कुमार को पत्र भी प्राप्त हाे गया है। गाैर रहे पूर्व मुख्यमंत्री के रूप में शांता कुमार के पास एस्कॉर्ट वाहन तथा 4 कर्मचारी कार्यरत थे।

लेकिन चार माह तक यह गाड़ी कर्मचारियाें के साथ पालमपुर में ही है।शांता कुमार ने सरकार के समक्ष तर्क दिया था कि अब वे सांसद नहीं हैं और सक्रिय राजनीति काे भी छाेड़ चुके हैं, बढ़ती आयु के बावजूद अब प्रवास लगभग नहीं करेंगे। ऐसे में उन्हें एस्कॉर्ट सुविधा की आवश्यकता नहीं है वहीं प्रति वर्ष चार लाख रुपये प्रति माह सरकारी खर्च भी उन्हें चुभने लगा है।

सरकार ने शांता कुमार काे अवगत कराते हुए सशर्त एस्कॉर्ट सुविधा को वापस लिया है, लेकिन प्रवास के दौरान उन्हें यह सुविधा उपलब्ध करवाई जाएगी। एस्काॅर्ट सुविधा वापस देने में शांता कुमार की पहल का केंद्र व प्रदेश में स्वागत हाे रहा है। 

Most Popular

नेशनल यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट्स इंडिया की बैठक शिमला में आयोजित ..किया कार्यकारणी का गठन

शिमलानेशनल यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट्स इंडिया की बैठक हिमाचल इकाई के अध्यक्ष रणेश राणा की अध्यक्षता में शिमला में आयोजित हुई। बैठक में...

मुकेश भले ही नेता प्रतिपक्ष पर उनका दल ही उन्हें अपना नेता मानने से कर रहा गुरेज : राकेश पठानिया

वन मंत्री राकेश पठानिया ने नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्रिहोत्री को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि हिमाचल सरकार तो उन्हें नेता प्रतिपक्ष...

विधानसभा सत्र के स्थगन पर पुनर्विचार करें सरकार : राकेश सिंघा

शिमला सीपीआईएम के वरिष्ठ नेता और विधायक राकेश सिंघा ने हिमाचल विधानसभा के शीतकालीन सत्र को टालने के...

अदरक की बंपर फसल पर भारी पड़ा लॉकडाउन, नहीं मिल रहे वाजिव दाम

शिलाई असम और बंगलूरू में लॉकडाउन के दौरान हुई अदरक की बंपर फसल से इस बार हिमाचली अदरक का निर्यात बांग्लादेश को...

Recent Comments