Monday, March 4, 2024
Homeshimlaनशे के खिलाफ सरकार और समाज को मिलकर लड़ने की आवश्कता :...

नशे के खिलाफ सरकार और समाज को मिलकर लड़ने की आवश्कता : बिंदल

आंकड़े सच्चे तो ऐसा न हो की पंजाब को पार कर जाए हिमाचल

शिमला, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ राजीव बिंदल ने कहा की हिमाचल प्रदेश में नशे के प्रति बढ़ती हुई प्रवृत्ति अत्यंत घातक है और ऐसा प्रतीत हो रहा है कि हिमाचल प्रदेश, युवाओं की दृष्टि से बहुत बड़े नुकसान की ओर अग्रसर है
कुछ दिन पहले आई एक रिपोर्ट के मुताबिक हिमाचल में दो लाख व्यक्ति नशे से प्रभावित है। यह एक बहुत बड़ी संख्या है। हिमाचल प्रदेश में साढे तीन प्रतिशत लोगों का ऐसे नशे में लिप्त होना गंभीर संकेत देता है और इसके प्रति गंभीरता हमें दर्शाने की आवश्यकता है ।

हिमाचल प्रदेश में नशा कहां से प्रवेश कर रहा है कहां से परोसा जा रहा है? इसके कारोबारी कौन है? इसको उजागर करना और उनको ढूंढना अति आवश्यक एंव महत्वपूर्ण हो चुका है। उन्होंने कहा कि सरकार और समाज का दायित्व है कि आने वाली पीढियों को इस जहर से बचाने और दूर रखने की आवश्यकता है। बच्चों पर नजर बनाए रखना और नशे से दूर रखना हमारा कर्तव्य है। उन्होंने कहा कि समाज को बच्चों का दृष्टिकोण बदलना पड़ेगा, उनको खेल पढ़ाई और धार्मिक योजनाओं की ओर आकर्षित करना पड़ेगा।

उन्होंने कहा कि उड़ता पंजाब की बात होती थी पर अगर इन आंकड़ों में सत्य है तो ऐसा ना हो कि हिमाचल प्रदेश पंजाब से भी आगे निकल जाए। नशे की वजह से कानून व्यवस्था बिगड़ती है और जिस प्रकार हिमाचल प्रदेश में अपराध होते हैं उसको भी बढ़ावा मिलता है। हम सबको मिलकर सजग होकर इसको ठीक करने की आवश्यकता है। इस समय में हिमाचल प्रदेश में 1700 से अधिक नशे के मामले आए हैं जो की अलार्मिंग है। सरकार को सक्रियता के साथ नशे पर हमलावर होना चाहिए।

आओ हम सब मिलकर हिमाचल प्रदेश को बचाने का कार्य करें।

Most Popular