Monday, May 20, 2024
Homeकुल्लूवन मंत्री ने सफाई अभियान में भाग लेकर लोगों को दिया स्वच्छता...

वन मंत्री ने सफाई अभियान में भाग लेकर लोगों को दिया स्वच्छता का संदेश

रेणुका गौतम
कुल्लू
: वन, परिवहन, युवा सेवाएं एवं खेल मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर ने आज ऐतिहासिक ढालपुर मैदान में जिला प्रशासन व नगर निगम द्वारा आयोजित स्वच्छता अभियान में भाग लिया। वन मंत्री अभियान में भाग लेने से पहले रास्ते में स्वच्छता का जायजा लेने के लिए परिधि गृह से पैदल रथ मैदान पहुंचे। उन्होंने सबसे पहले झाडू उठाकर साफ-सफाई करनी आरंभ कर दी जिसे देखकर मौके पर मौजूद सभी अधिकारियों, कर्मचारियों व नगर परिषद के कर्मियों ने भी मैदान में पड़ा कचरा हटाना शुरू कर दिया।
उपायुक्त डाॅ. ऋचा वर्मा ने सारे कार्यों को छोड़ स्वच्छता को प्राथमिकता देते हुए झाडू उठा लिया और पूरी तत्परता के साथ सभी लोगों के साथ साफ-सफाई करती नजर आई।
गोविंद सिंह ठाकुर ने रथ मैदान से सफाई अभियान की शुरूआत करते हुए प्रदर्शनी मैदान तथा मुख्य मैदान में जगह-जगह पर पड़े कचरे को न केवल झाडू से बल्कि हाथों से बे-झिझक साफ किया। मंत्री को साफ-सफाई करते देख उत्सव में आए हजारों लोग उन्हें निहारते रहे और स्वच्छता में भाग लेने के लिए उत्सुक दिखें और कुछ लोग तो साफ सफाई भी करने लग गए। दशहरा उत्सव में लोगों के लिए स्वच्छता का यह एक प्रभावी संदेश था। गौरतलब है कि उत्सव में बहुत बड़े पैमाने पर लोग खरीदो-फरोख्त करते हैं और ऐसे में ढालपुर मैदान में कचरा फैलना स्वाभाविक है। इसी के दृष्टिगत स्वच्छता अभियान को प्रभावी ढंग से चलाया गया है।
वन मंत्री जो दशहरा उत्सव समिति के अध्यक्ष भी हैं, ने कहा कि इस बार उत्सव के दौरान कचरा न फैले इसके लिए समुचित व्यवस्था की गई है। सभी दुकानदारों को प्लास्टिक का प्रयोग न करने के संबंध में प्रशिक्षित किया गया है। गीला व सूखा कूड़ा अलग-अलग करके नगर निगम के कर्मियों को सौंपने के लिए निर्देश दिए गए हैं। सभी लोगों से भी अपील की गई है कि वे अनावश्यक कचरा न फैलाएं और कूड़ा केवल डस्टबिन में ही डालें। उन्होंने कहा कि 60 से अधिक वालन्टियरों को भी ढालपुर मैदान में स्वच्छता पर नजर रखने के लिए तैनात किया गया है। इसके अलावा 100 से अधिक सफाई कर्मियों को केवल ढालपुर के मैदानों की सफाई के लिए लगाया गया है।
गोविंद ठाकुर ने कहा कि उत्सव के दौरान थर्मोकोल के कप प्लेटों व प्लास्टिक के गिलास व अन्य वस्तुओं के प्रयोग पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगाया गया है और दोषी पाए जाने पर जुर्माना लगाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि सभी खाद्य स्टाॅलों में स्टील के वर्तन अथवा हरे पत्तों की पतलों का प्रयोग किया जा रहा है। इस बार दशहरा उत्सव में सफाई की व्यवस्था काफी अच्छी और संतोषजनक है। इसके लिए उन्होंने नगर परिषद की सराहना की। उन्होंने ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों से भी प्लास्टिक का प्रयोग न करने की अपील की है। उन्होंने कहा कि ग्राम पंचायतों को सभी गांवों में कचरे का उपयुक्त निष्पादन सुनिश्चित बनाना चाहिए।
वन मंत्री ने कहा कि दशहरा उत्सव समिति और नगर परिषद की ओर से 300 सफाई कर्मियों को उपहार प्रदान किए जाएंगे। उन्होंने वन विभाग व ग्रामीण विकास विभाग को जल्द से डम्पिग साईट की तलाश करने को कहा ताकि कचरे का सही निदान सुनिश्चित किया जा सके। उन्होंने आम जनमानस से अपील की कि अपने घर की तरह अपने आस-पास को भी स्वच्छ रखें। इससे जहां पर्यावरण बचेगा वहीं बीमारियों से भी बचा जा सकेगा।
स्वच्छता अभियान में नगर निगम के उपाध्यक्ष गोपाल कृष्ण महंत, पार्षदगण, अधिकारीगण तथा सफाई कर्मचारियों ने भाग लिया।

Most Popular