Tuesday, April 16, 2024
Homeकुल्लूजूनियर रेडक्रॉस कार्यशाला का उपायुक्त आशुतोष गर्ग ने किया शुभारंभ

जूनियर रेडक्रॉस कार्यशाला का उपायुक्त आशुतोष गर्ग ने किया शुभारंभ

जूनियर रेड क्रॉस कार्यशाला का शुभारंभ करते उपायुक्त कुल्लू आशुतोष गर्ग

अधिकाधिक स्कूल जोड़ने के दिये निर्देश

रेणुका गौतम, कुल्लू : उपायुक्त आशुतोष गर्ग ने जूनियर रेडक्रॉस वालंटियर कार्यशाला में उपस्थित अध्यापकों एवं स्वयंसेवी छात्र छात्राओं को संबोधित करते हुए कहा कि जूनियर रेड क्रॉस से अधिक से अधिक स्कूलों के बच्चों को जोड़ना वर्तमान में अति आवश्यक हो गया है। ताकि मानवता, सद्भावना, सामाजिक सौहार्द एवं निस्वार्थ सेवा के गुणों का संचार कर उन्हें सामाजिक उत्तरदायित्व का बोध दिलाया जा सके।

उन्होंने कहा कि अभी तक ज़िले में 25 स्कूलों में जूनियर रेड क्रॉस इकाई का गठन चुका है। उन्होंने अधिकतम स्कूलों को इससे जोड़ने की बात भी कही। ताकि ज़िला के प्रत्येक स्कूल में जूनियर रेड क्रॉस इकाई गठित की जा सके। उन्होंने ने जिला रेडक्रॉस की जूनियर रेडक्रॉस इकाइयों की गतिविधियों पर आधारित वार्षिक कलेंडर तैयार करने को भी कहा। उन्होंने कहा कि जूनियर रेडक्रॉस के वालंटियर आपदा के समय अहम भूमिका निभा सकते हैं। उपायुक्त ने इस अवसर पर संस्था के उद्देश्य की शपथ दिलाई तथा कुरुक्षेत्र में राष्ट्रीय स्तर के शिविर में भाग लेने वाले स्वयंसेवी व काउंसेलर को प्रमाण पत्र भी प्रदान किये।

ज़िला रेडक्रॉस सोसायटी कुल्लू के सचिव वी के मोदगिल ने मुख्य अतिथि व अन्य का स्वागत किया तथा रेड क्रॉस द्वारा की जानी वाली गतिविधियों, की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि जूनियर रेड क्रॉस सोसाइटी की भारत में स्थापना 1925 में हुई थी। उन्होंने जूनियर रेड क्रॉस के अंतर्गत वर्ष भर में की जाने वाली गतिविधियों एवं इसकी यूनिफॉर्म पर चर्चा करने के साथ जूनियर रेड क्रॉस के उद्देश्यों पर भी प्रकाश डाला। तो साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि जिन लोगों की वार्षिक आय 50 हज़ार से कम हो उनको आर्थिक सहायता दी जाती है। एम्बुलेंस की व्यवस्था कम शुल्क पर, तथा अति गरीब को निशुल्क प्रदान की जाती है।

रेड क्रॉस की गतिविधियों को लेकर जानकारी देते हुए विस्तार में उन्होंने बताया कि रेड क्रॉस द्वारा रक्तदान शिविर, स्वास्थ्य जांच शिविर, लगाए जाते हैं ताकि ब्लड प्रेशर, शुगर आदि का पता पहले ही लगाया जा सके । सोसाइटी द्वारा कैंसर तथा अन्य बीमारियों को लेकर जागरूकता अभियान, व आशा वर्कर, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, अध्यापकों के लिए ओरीरेंटश कार्यक्रम भी करवाये जाते हैं। ड्रग व्यसन की गंभीरता को देखते हुए , एकीकृत महिला पुनर्वास केन्द्र भून्तर में व्यसनी रोगियों का निशुल्क उपचार किया जाता है। जिसमें ओपीडी एवं आइपीडी की सुविधा है।

जूनियर रेड क्रॉस के नोडल अधिकारी श्याम लाल हांडा ने कहा कि रेड क्रॉस सवर्तमान में विश्व के लगभग 200 देशों में कार्य कर रही है। मानवता, स्वास्थ्य एवं सेवा के लिए समर्पित यह संस्था कुल्लू ज़िले में जूनियर रेड क्रॉस में कभी 25 स्कूलों में कार्य कर रही है, जिनमें दो निजी स्कूल भी हैं। यह सभी वर्ष में कोई न कोई गतिविधियों का आयोजन करती है। हांडा ने बताया कि हिमाचल में कुल्लू व मंडी में इसकी इकाइयों के गठन हुआ है। सामाजिक गतिविधियों में लोककल्याण की भावना से आदर्श वाक्य ‘मैं सेवा करता/करती’ हूं के साथ धर्मनिरपेक्षता, राष्ट्रीय एकीकरण का ध्येय लेकर कार्य कर रही है।

इस अवसर पर केम्ब्रिज स्कूल के पुष्पिंदर ठाकुर ने जिला रेडक्रॉस सोसायटी को 11000 रुपये का चेक भेंट किया व अपने विचार रखे। कार्यशाला में जूनियर रेडक्रॉस के कौंसिलर, अध्यापक तथा जूनियर रेडक्रॉस के स्वयंसेवी भी मौजूद रहे।

Most Popular