Sunday, June 16, 2024
Homehimachalसरदार पटेल विश्वविद्यलाय को बंद करने में कांग्रेस की प्रदेश अध्यक्षा पूरी...

सरदार पटेल विश्वविद्यलाय को बंद करने में कांग्रेस की प्रदेश अध्यक्षा पूरी तरह शामिल : बिंदल

  • 10 में 9 विधानसभा सीटें भाजपा की झोली में डालने का खामियाजा भुगत रही है मंडी की जनता

शिमला, सरदार पटेल विश्वविद्यालय , मंडी से 80 कॉलेज निकाल कर दूसरे विश्वविद्यालय में डालने के प्रदेश सरकार के फैसले के बारे में तीव्र प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए भाजपा प्रदेश अध्यक्ष, डॉ राजीव बिंदल, ने कहा कि यह फैसला अत्यन्त दुखदाई है और हिमाचल प्रदेश तथा विशेषतौर से मंडी क्षेत्र की जनता के साथ अन्याय और धोखा है।

डॉ राजीव बिंदल ने कहा कि मंडी क्षेत्र में पूर्व भाजपा सरकार के द्वारा विश्वविद्यालय खोला गया था। इस विश्वविद्यालय को खोलने से हजारों विद्यार्थियों को लाभ मिला। विद्यार्थियों को किसी और विश्वविद्यालय में डिग्री संबंधि या किसी अन्य कार्य हेतु होने वाले व्यय में कटौती हुई और विश्वविद्यालय स्तर की शिक्षा प्राप्त करने वाले विद्यार्थियों की संख्या में बढ़ौतरी हुई। मंडी का क्षेत्र दूरदराज तक फैला हुआ है, न केवल मंडी अपितु कुल्लू व लाहौल स्पीति जिला इस सरदार पटेल विश्वविद्यालय के साथ जुड़े हुए हैं और ऐसे में 80 कॉलेजिज को सरदार पटेल विश्वविद्यालय से निकाल दिया जाना दुर्भाग्यपूर्ण है।

डॉ बिंदल ने कहा कि वास्तव में कांग्रेस की वर्तमान सरकार इस विश्वविद्यालय को बंद करना चाहती है और बंद करने से पहले इस विश्वविद्यालय से संब़द्ध कॉलेजिज को निकाल कर इसे खोखला करने का प्रयास किया जा रहा है।
भारतीय जनता पार्टी ने यह भी आरोप लगाया, क्योंकि मंडी में 10 में से 9 विधायक भारतीय जनता पार्टी के चुनाव चिन्ह पर जीत के आए हैं, ऐसे में कांग्रेस पार्टी मंडी की जनता को सजा देने में लगी है।

भाजपा ने कांग्रेस की प्रदेश अध्यक्षा व मंडी की सांसद प्रतिभा सिंह से भी यह पूछा है कि सरदार पटेल विश्वविद्यालय उनके संसदीय क्षेत्र का हिस्सा है और इस विश्वविद्यालय से 80 कॉलेजिज को निकाल दिया गया है और इस विश्वविद्यालय को बंद करने का षड्यंत्र उन्ही की कांग्रेस सरकार कर रही है, इस पर प्रतिभा सिंह शांत क्यों हैं?
भाजपा अध्यक्ष ने यह भी आरोप लगाया कि इस विश्वविद्यलाय को बंद करने में कांग्रेस की प्रदेश अध्यक्षा पूरी तरह शामिल है।
9 महिने पहले सत्ता में आई कांग्रेस सरकार ने केवल और केवल संस्थानों को बंद करने का काम किया है। 1500 संस्थानों को ये सरकार पहले ही बंद कर चुकी है। अस्पतालों, पी0एच0सीज0, सी0एच0सजी0, पटवार सर्कल और स्कूलों को बंद करना दुखदाई है। कांग्रेस सरकार इस क्षेत्र की जनता के हितों के साथ खिलवाड़ करने का प्रयास कर रही है और उसी कड़ी में सरदार पटेल विश्वविद्यालय को बंद करने का षड्यंत्र किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी इसे किसी भी सूरत में स्वीकार नहीं करेगी।

Most Popular