Friday, June 21, 2024
Homeचुनावभाजपा का संकल्प पत्र महिला सशक्तिकरण का आधार:- पायल वैद्य

भाजपा का संकल्प पत्र महिला सशक्तिकरण का आधार:- पायल वैद्य

समृद्ध हिमाचल की परिकल्पना महिलाओं कि भागीदारी से ही संभव शक्ति संकल्प भाजपा की प्रतिबद्धता दर्शाता है

शिमला ; भारतीय जनता पार्टी की प्रदेश उपाध्यक्ष पायल वैद्य ने पार्टी के संकल्प पत्र के मुख्य बिंदुओं और महिला सशक्तिकरण पर भारतीय जनता पार्टी की परिकल्पना को मीडिया के समक्ष रखा। उन्होंने कहा कि भाजपा महिला सम्मान के लिए प्रतिबद्व है और महिला सशक्तिकरण हमारा उद्देश्य है। महिलाओं को केन्द्र में रखकर ही भाजपा ने संकल्प पत्र का निर्माण किया है। इससे पूर्व भारतीय जनता पार्टी ने आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, आशा कार्यकर्ता, सिलाई अध्यापिकाओं और मीड डे मील वर्कस का मानदेय 50 प्रतिशत से 4 सौ प्रतिशत तक बढ़ाया है। उसी तरह भाजपा संकल्प पत्र में भी महिला सशक्तिकरण के प्रति अपनी प्रतिबद्धता को जाहिर किया है।

    बी पी एल परिवार की लड़कियों की शादी के लिए वितीय सहायता मौजुदा 31 हजार रूपये से बढ़ाकर 51 हजार रूपये करने का संकल्प लिया है। 500 करोड़ रूपये का कोष स्थापित किया जाएगा। जिसके माध्यम से महिलाओं को होमस्टे स्थापित करने के लिए ब्याज मुक्त ऋिण दिया जाएगा इससे हिमाचल जैसे पर्यटन आधारित राज्य में महिलाओं को स्वरोजगार के अवसर प्राप्त होंगे। महिला स्वंय सहायता समुह को दिए जाने वाले ऋण की उपरी सीमा बढ़ाकर उन्हें सशक्त बनाया जाएगा और इस पर दिए जाने वाले ऋण पर लगने वाले ब्याज को 2 प्रतिशत कम किया जाएगा। इससे रोेजगार और स्वाबलंबन के क्षेत्र में महिलाओं की भागीदारी बढ़ेगी। 

    माँ और बच्चे के उचित स्वास्थ्य और देखभाल को सुनिश्चित करने के लिए गर्भवती महिलाओं को 25 हजार रूपये की राशि प्रदान की जाएगी। “देवी अन्नपूर्णा योजना“ के माध्यम से गरीब परिवारों कि महिलाओं को तीन मुफ्त रसोई गैस सिलैण्डर प्रदान किए जाएंगे। इसके अतिरक्ति अटल पेंशन योजना में गरीब परिवारों की 30 वर्ष से अधिक आयु की सभी महिलाओं को सम्मिलित करके पेंशन लाभ दिया जाएगा जिससे उनका भविष्य सुरक्षित और सम्मानजनक किया जा सके। सरकारी स्कुलों कि बारहवी कक्षा में शीर्ष 5 हजार रैंक वाली छात्राओं को उनकी उच्च शिक्षा की पढ़ाई के दौरान 25 सौ रूपये की प्रतिमाह की छात्रवृति प्रदान की जाएगी। इससे छात्राओं को उच्च शिक्षा ग्रहण करने में सुविधा प्राप्त होगी और उच्च शिक्षा में छात्राओं के प्रतिशत को बढ़ाया जा सकेगा। ग्रामीण महिलाओं के लिए उचित मुल्य की दुकानों के माध्यम से पशु धन हेतु गुणवतापूर्ण चारे की खरीद और वितरण को आसान बनाने के लिए प्रणाली विकसित की जाएगी और प्रदेश की सभी महिलाओं को ऐसी बीमारियों की जाँच और ईलाज के लिए जो वर्तमान में हिमकेयर कार्ड में कवर नहीं है “स्त्री शक्ति कार्ड“ के माध्यम से कवरेज प्रदान करेंगे। राज्य के सभी 12 जिलों में प्रत्येक में 2 बालिका छात्रावासों का निर्माण किया जाएगा जोकि उच्च शिक्षा प्राप्त करने वाली छात्राओं को सुविधा प्रदान करेंगे और उन्हें कम खर्च में सुविधाजनक आवासीय वयव्स्था उपलब्ध करवाई जाएगी। 

      राज्य की सरकारी नौकरियों और शैक्षणिक सस्ंथानों में महिलाओं के लिए 33 प्रतिशत आरक्षण सुनिश्चित किया जाएगा जिससे सरकारी नौकरियों में और उच्च शिक्षा में महिला भागीदारी को बढ़ाया जा सकेगा। इसके साथ ही छठी से बारहवी कक्षा तक की स्कुली छात्राओं को साईकिल और उच्च शिक्षा प्राप्त करने वाली छात्राओं को स्कुटी उपलब्ध करवाई जाएगी। कांग्रेस ने हमेशा ही नारीशक्ति की अनदेखी की है और उसे कमजोर बनाया है। इसके विपरीत भाजपा ने नारी की सुरक्षा सुनिश्चित की उसे सुविधाएं दी और स्वाबलंबी बनाया। भाजपा से सदैव नारी को पुजनीय माना है नारी कल्याण के लिए भाजपा हमेशा समर्पित रही है। नारी समाज की शिल्पकार है, समाज का आधार है नारी के सहयोग से ही समाज का उत्थान संभव है। हिमाचल को समृद्ध और अग्रणी राज्य की श्रेणी में लाने के लिए महिलाओं का योगदान अहम रहने वाला है।वहीं कांग्रेस झूठी गारंटी दे कर महिलाओं और जनता को गुमराह कर रहे है , प्रदेश की जनता उनकी कथनी करनी से वाकिफ है और इन पर कतिही विश्वास नही करती , इस मौके पर महिला मोर्चा अधक्ष अनीला सूद एवं भाजपा महिला मोर्चा महामंत्री किमी सूद उपस्थित रहे ।

Most Popular