Friday, February 23, 2024
Homeकुल्लूतीर्थन घाटी सरंक्षण एवं पर्यटन विकास एसोसिएशन की बैठक संपन्न

तीर्थन घाटी सरंक्षण एवं पर्यटन विकास एसोसिएशन की बैठक संपन्न

तीर्थन संरक्षण एवं पर्यटन विकास एसोसिएशन की बैठक का आयोजन ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क तीर्थन रेंज शाइरोपा के सभागार में किया गया। एसोसिएशन के प्रधान वरुण भारती ने बैठक की अध्यक्षता की तथा वरिष्ठ पत्रकार एवं पर्यावरण प्रेमी दौलत भारती बैठक में विशेष रूप से उपस्थित रहे।

तीर्थन घाटी में पर्यटन को सुचारू एवं व्यवस्थित तरीके से चलाने के लिए एसोसिएशन की ओर से एक यात्रा नियमावली तैयार की गई है जिसके हर बिन्दु का पर्यटकों और हम सभी लोगों को अनुसरण करना होगा। उन्होंने सभी पर्यटन कारोबारियों से आग्रह किया है कि सभी अपने अपने यूनिट के मुख्य स्थान पर इस यात्रा नियमावली की पट्टिका को प्रदर्शित करें ताकि पर्यटक आसानी से इसे पढ़ सके।उन्होंने बताया कि शीघ्र ही इस यात्रा नियमावली को घाटी के प्रमुख दर्शनीय स्थलों ,मुख्य रास्तों, चौराहों आदि में बोर्डों और वेनरों द्वारा प्रदर्शित किया जाएगा।
बैठक में सर्व सम्मति से प्रस्ताब पारित किया गया कि अब घाटी के मुख्य दर्शनीय स्थलों ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क इको जॉन व कोर जॉन तथा छोई झरने में घूमने फिरने के लिए पर्यटकों को गाईड की सेवा ली जानी अनिवार्य होगी। हर पर्यटन कारोबारी को अपने पर्यटकों के लिए निर्धारित सेवा शुल्क के अनुसार गाईड की सेवा उपलब्ध करवानी होगी।जिसके लिए घाटी के युवाओं को गाईड पहचान पत्र बनाने की प्रक्रिया अंतिम दौर में चली है।
वरिष्ठ पत्रकार एवं पर्यावरण प्रेमी दौलत भारती का कहना है कि घाटी के धार्मिक पवित्र स्थलों, नदी, नालों,झरनों और पर्यावरण को संरक्षित रखने की दिशा में यह एक अच्छी पहल है।इनके अनुसार एसोसिएशन द्वारा जारी यात्रा नियमावली का सभी पर्यटकों और स्थानीय लोगों को अनुसरण करना होगा तभी तीर्थन घाटी को ग्रामीण पर्यटन के क्षेत्र में एक अलग पहचान मिल सकती है। घाटी के युवा राजीव किशोर का कहना है कि पर्यटकों के लिए गाईड की सेवा अनिवार्य करने से घाटी में आने वाले पर्यटक अपनी मनचाही जगह पर आसानी से घूमने फिरने का मजा ले सकते है और साथ ही घाटी के युवाओं को भी घर द्वार पर रोजगार मिलेगा।
एसोसिएशन के उप प्रधान अमन नेगी का कहना है कि घाटी के धार्मिक पवित्र स्थलों की पवित्रता को बनाए रखने के प्रयास किए जा रहे है तथा  स्थानीय लोगों के प्राकृतिक जल स्त्रोतों को भी बहाल रखा जाएगा।
बैठक में उपस्थित कुछ सदस्यों ने बतलाया कि घाटी में कुछ बाहरी पर्यटन कारोबारी अपनी ईकाइयों मे कई बार रात दस बजे के बाद भी जोर जोर से म्यूजिक सिस्टम चलाते हैं जिस कारण स्थानीय लोगों और स्कूली बच्चों को परेशानी हो रही है।इस पर वरुण भारती ने कहा कि इन लोगों से एक बार पुनः आग्रह किया जाएगा कि वे ऐसी कोई भी गतिविधियां न करें जो स्थानीय जनता व पर्यावरण के लिए अहितकारी हो।फिर भी अगर स्थानीय जनता की ओर से ऐसी कोई शिकायत आती है तो कानूनी कार्यवाही के विकल्प खुले हैं।
इस बैठक में मोहन ठाकुर ,मुरली चंद, डोला सिंह, वलबीर टिली, पुष्पेंद्र शर्मा, यान सिंह, मनीष, राजीव किशोर, केहर सिंह, भूपेंद्र सिंह, चुनी लाल, निखिल सिंह, विपन ठाकुर, राजेन्द्र सिंह, महेन्द्र सिंह व परस राम भारती आदि मुख्य से उपस्थित रहे।

Most Popular