Sunday, March 3, 2024
Homeहमीरपुरयोग्यता और नैतिक मूल्यों से परिपूर्ण हो राष्ट्रीय शिक्षा नीति : प्रो...

योग्यता और नैतिक मूल्यों से परिपूर्ण हो राष्ट्रीय शिक्षा नीति : प्रो नागेश ठाकुर

रजनीश शर्मा
हमीरपुर :
हिमाचल प्रदेश तकनीकी विश्वविद्यालय हमीरपुर तथा गौतम कॉलेज हमीरपुर ने भारतीय शिक्षण मंडल हिमाचल प्रदेश के साथ मिलकर वीरवार को राष्ट्रीय शिक्षा नीति विषय पर परिचर्चा का आयोजन किया इस परिचर्चा में विश्वविद्यालय अनुदान आयोग के सदस्य प्रोफेसर नागेश ठाकुर ने बतौर मुख्यातिथि शिरकत की | इस कार्यक्रम की अध्यक्षता हिमाचल प्रदेश तकनीकी विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर एसपी बंसल द्वारा की गयी।

कार्यक्रम का आरंभ दीप प्रज्वलन कर किया गया| प्रोफेसर नागेश ठाकुर ने उपस्थित श्रोताओं को संबोधित करते हुए कहा की राष्ट्रीय शिक्षा नीति में मूलचूल परिवर्तन करते हुए इसके क्रियान्वयन योजना को शीघ्रता से अमल में लाया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि हम भारत में ऐसी शिक्षा चाहते हैं जिसमें विद्यार्थी को उसकी योग्यताओं से परिचित तो करवाए ही लेकिन साथ ही विद्यार्थियों में नैतिक मूल्यों का भी संचार करें। आज भारत को इस प्रकार की शिक्षा की आवश्यकता है जिसमें भारत की मूल भाषाओं एवं भारत के स्वाभिमान एवं राष्ट्रवाद को प्रवाह मान किया जा सके । प्रदेश तकनीकी विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर एसपी बंसल ने मुख्य अतिथि प्रोफेशन नागेश ठाकुर का स्वागत किया और कहा कि हिमाचल प्रदेश तकनीकी विश्वविद्यालय राष्ट्रीय शिक्षा नीति के विषय में अपने सुझाव प्रेषित करने जा रहा है और उन्होंने बहुत से सुझावों को उपस्थित श्रोताओं के समक्ष भी साझा किया | उन्होंने कहा हिमाचल प्रदेश तकनीकी विश्वविद्यालय राष्ट्रीय शिक्षा नीति का स्वागत करता है | लेकिन साथ ही उन्होंने यह भी कहा की इसके अंतिम और निर्णायक दस्तावेज में हिमाचल प्रदेश तकनीकी विश्वविद्यालय अपने विभिन्न सुझावों को सम्मिलित करने का प्रयास कर रहा है| प्रदेश तकनीकी विश्वविद्यालय के कुलसचिव राकेश कुमार शर्मा ने उपस्थित मुख्य अतिथि एवं सभी गणमान्य व्यक्तियों का धन्यवाद किया |

कार्यक्रम में हिमाचल प्रदेश तकनीकी विश्वविद्यालय के अधिष्ठाता अध्ययन प्रोफेसर कुलभूषण चंदेल ,अधिष्ठाता योजना प्रोफेसर विनय चौहान,अधिष्ठाता छात्र कल्याण प्रोफेसर राजेंद्र गुलेरिया प्रधानाचार्य राजकीय महाविद्यालय हमीरपुर भी उपस्थित रहे |

Most Popular