23.1 C
Shimla
Wednesday, July 15, 2020

जनता के पैसे से बनी संपति का निजीकरण करना खेदजनक : राणा

Must read

शिमला के घनाहट्टी में बस और बाइक की भिडंत में युवक की मौत

शिमला : शिमला के घनाहट्टी के पास HRTC की बस और बाइक में आमने सामने...

कंडाघाट : तेज रफ्तार से भीड़े आपस में कई वाहन

  कंडाघाट : एन एच् 22 कंडाघाट मे दोपहर बाद एक बड़ा हादसा होते होते बचा ।तेज रफ्तारी के कारण...

Cabinet meeting himachal :हिमाचल प्रदेश मंत्रिमंडल के निर्णय  

प्रदेश मंत्रिमण्डल की शनिवार को शिमला में आयोजित बैठक में प्रदेश सरकार का दो वर्ष का कार्यकाल पूरे होने के अवसर पर आयोजित समारोह...

कहा : अगर देश की आर्थिक स्थिति नहीं संभल रही तो देश व जनहित में इस्तीफा देकर स्थिति स्पष्ट करे सरकार

हमीरपुर, 14 जनवरी : सुजानपुर के विधायक राजेंद्र राणा ने कहा है कि जुमलेबाजों की सरकार मुद्दों से भटक चुकी है। पहले ही सरकारी उपक्रमों को बेचने वाली सरकार अब 100 रेल रूटों का निजीकरण कर 150 प्राइवेट ट्रेनें चलाने की तैयारी कर चुकी है जिससे साफ हो गया है कि इस सरकार ने देश को आर्थिक रूप से बहुत ज्यादा क्षति पहुंचाई है और अब अपने गलत फैसलों पर पर्दा डालने के लिए देश को गुलाम करने की ओर अग्रसर है। जारी प्रेस विज्ञप्ति में उन्होंने कहा कि नैशनल हाइवे व फोरलेन निर्माण के कार्य पहले ही आधे-अधूरे पड़े हैं। देश में जबरदस्त आर्थिक सुस्ती छाई हुई है। 1.76 लाख करोड़ रुपए रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया से लेने वाली सरकार अब 45 हजार करोड़ रुपए और लेने की तैयारी कर रही है। वर्तमान में सरकार के राजस्व में 19.6 लाख करोड़ रुपए की कमी चली हुई है। ऐसे हालातों में निजीकरण का रास्ता अख्तियार कर सरकार देश को बहुत बड़ी हानी पहुंचाने जा रही है जिसका जनहित में कांग्रेस पार्टी हर स्तर पर विरोध करेगी। राजेंद्र राणा ने कहा कि जनता के पैसे से बनाई गई सरकारी संपत्ति को निजी हाथों में सौंपना देश की जनता के साथ बहुत बड़ा धोखा है। उन्होंने कहा कि सरकारी खजाने को लुटाकर व बैंकों को खाली कर सरकार चंद 4-5 चहेते उद्योगपतियों की जेबें भरने में लगी हुई है। उन्होंने सवाल किया कि डेढ़ सौ प्राइवेट ट्रेनें चलाने का निर्णय आखिर क्यों लिया है। उन्होंने कहा कि ऐसे गलत निर्णय ब्रिटेन, अर्जेटीना, न्यूजीलैंड व आस्ट्रेलिया जैसे समृद्ध देश भी ले चुके हैं लेकिन उनके लिए जब निजीकरण घाटे का सौदा साबित हुआ तो इन देशों को अपना फैसला पलटना पड़ा और दोबारा इस सुविधा का राष्ट्रीयकरण किया गया। उन्होंने आरोप लगाया कि केंद्र सरकार अपने उद्देश्य से पूरी तरह भटक चुकी है तथा हड़बड़ाहट में ऐसे निर्णय लिए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि पहले नागरिकता संशोधन अधिनियम लाकर जनता को परेशान करने का मसौदा तैयार किया, जिसका खमियाजा सदियों तक जनता को भुगतना पड़ेगा।फिर उस निर्णय को सही साबित करने के लिए घर-घर दस्तक दे रही है और अब वो मामला ठंडा भी नहीं हुआ है कि चुपके से रेल रूटों का निजीकरण करने का फैसला ले लिया। उन्होंने कहा कि इस सरकार को स्पष्ट तौर पर कह देना चाहिए कि उनसे देश की आर्थिक स्थिति संभाली नहीं जा रही है और देश व जनहित में इस्तीफा दे देना चाहिए, ताकि देश और ज्यादा आर्थिक नुक्सान से बचे, क्योंकि अब तक केंद्र सरकार अपने 6 साल के कार्यकाल में एक भी फैसला जनहित में नहीं ले सकी है तथा जितने भी निर्णय लिए हैं, उनसे देश को नुक्सान ही उठाना पड़ा है।

More articles

Latest article

बंजार की जनता को 75 करोड़ की सौगात के लिए मुख्यमंत्री का आभार : गोविंद सिंह ठाकुर

रेणुका गौतम विधायक सुरेंद्र शौरी ने भी कहा मील का पत्थर साबित होंगी योजनाएं कुल्लू,...

हि.प्र. एसडीएमए कोविड-19 स्टेट डिजास्टर रिस्पाॅस फंड में अंशदान

वन मंत्री गोविन्द सिंह ठाकुर ने आज यहां जिला कुल्लू के मनाली विधानसभा क्षेत्र के लोगों की ओर से हि.प्र. एसडीएमए कोविड-19...

राज्य सरकार प्रदेश के समग्र और संतुलित विकास के लिए प्रतिबद्धः मुख्यमंत्री

  रोहडू क्षेत्र के लोगों से वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से की बातचीत मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने...

आयुर्वेद डिस्पेंसरी बलोग में डॉक्टर न होने से करीब अढाई हजार जनता परेशान

शिमला : मशोबरा ब्लॉक की बलोग पंचायत में स्वास्थ्य सेवाएं ठप्प होने से सैंकड़ों  लोगो को बहुत परेशानी पेश आ रही है...

मुख्यमंत्री ने बंजार क्षेत्र के लिए 73 करोड़ रुपये की विकासात्मक परियोजनाएं की समर्पित

मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज यहां वीडियो काॅन्फ्रेंसिग के माध्यम से जिला कुल्लू के बंजार विधानसभा क्षेत्र में 73 करोड़ रुपये...