Sunday, March 3, 2024
Homeशिमलाइन्वेस्टर मीट में ऊर्जा क्षेत्र में 26,812 करोड़ के एमओयू साइन

इन्वेस्टर मीट में ऊर्जा क्षेत्र में 26,812 करोड़ के एमओयू साइन


हाइड्रो पॉवर में 25,772 करोड़ और 1,040 करोड़ के एमओयू सोलर पॉवर में हुए साइन
13215 लोगों को मिलेगा प्रोजेक्ट से रोजगार

शिमला : सरकार ने ऊर्जा क्षेत्र के मिनी कॉन्क्लेव के दौरान बुधवार को मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर और शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज की मौजूदगी में ऊर्जा के क्षेत्र में इन्वेस्टर के साथ 26 हजार 812 करोड़ रुपये के एमओयू साइन किये।जिनमें 25 हजार 772 करोड़ के एमओयू हाइड्रो पॉवर और 1,040 करोड़ के एमओयू सोलर पॉवर के क्षेत्र में साइन हुए हैं।ऊर्जा क्षेत्र में कुल दस एमओयू साइन किये गए जिनमें 2 एनटीपीसी,1 एनएचपीसी और 7 एमओयू एसजेवीएन के साथ साइन हुए। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि ग्लोबल इन्वेस्टर मीट की दिशा में आज सबसे बड़ा काम हुआ है। हाइड्रो सेक्टर को छोड़कर इन्वेस्टर जा रहे थे लेकिन सरकार ने निर्णय लिया कि इस सेक्टर को आगे बढ़ाने के लिए कुछ फैंसले लेने होंगे जो सरकार ने लिए और आज नतीजा सबके सामने है।सरकार ने जो एमओयू साइन किये उससे प्रदेश में 2927 मेगावाट बिजली का उत्पादन होगा और 13,215 लोगों को इन प्रोजेक्ट में रोजगार मिलेगा। जब ज़मीन पर कार्य दिखेंगे तभी सफलता मिलेगी। रोजगार को बढ़ाने के लिए क्या है ये सब कर रहे हैं। उत्तरखंड में 18 हज़ार करोड़ के निवेश ज़मीन पर आ गय। उत्तराखंड के निवेश को देख हमने प्रयास किया जबकि विपक्ष ने विरोध किया।पहाड़ का व्यक्ति संघर्ष करता है। 75700 करोड़ के अभी तक 570 एमओयू साइन किये हैं। जो आज से पहले प्रयास नहीं हुए कोशिश की है और इसे ज़मीन पर उतारेंगे।
एक स्ट्रीम में प्रोजेक्ट देने के एस जेवीएन के मुख्य महाप्रबंधक नंदलाल के सुझाव पर विचार की बात कही।
प्रधान सचिव ऊर्जा प्रबोध सक्सेना ने बताया कि कुछ प्रोजेक्ट जो 15 साल पहले अलॉट किये गए थे लेकिन उनमें काम नही हो पाया था लेकिन अब एमओयू साइन होने के बाद इन प्रोजेक्ट पर काम शुरू हो जाएंगे।

प्रदेश के मुख्य सचिव श्रीकांत बाल्दी ने कहा कि जो जितनी तेजी से निर्माण करेगा उसे सरकार लाभन्वित करेगी और प्रोजेक्ट दिए जाएंगे।
प्रदेश सरकार ने हाइड्रो पॉवर पालिसी 2006 में बनाई थी। हाइड्रो पॉवर के दोहन की प्रदेश में 23,500 मेगा वाट की क्षमता है जिसने साढ़े दस हजार मेगा वाट का दोहन कर लिया है।

इस दौरान मुख्यमंत्री ने 5 मेगा वाट तक के बिजली प्रोजेक्ट को लगाने के इच्छुक इन्वेस्टर के गाइडलाइंस और हिमऊर्जा के सोलर रूफ टॉप की ग्रिड से कनेक्टिविटी के लिए ऑनलाइन पोर्टल का लॉच भी किया।

Most Popular