Tuesday, October 19, 2021
Homeहमीरपुरमोदी सरकार द्वारा 35 हजार करोड़ की लागत से देशवासियों को मुफ्त...

मोदी सरकार द्वारा 35 हजार करोड़ की लागत से देशवासियों को मुफ्त कोविड वैक्सीन सुरक्षा कवर प्रदान किया जा रहा है: अनुराग सिंह ठाकुर


पीएमजीकेएवाई के तहत 80 करोड़ लोगों को 15 महीने का मुफ्त राशन मुहैया कराकर केंद्र सरकार ने पूरी दुनिया में मिसाल कायम की 

शिमला, सूचना एवं प्रसारण और युवा मामले और खेल मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर ने आज कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार COVID 19 महामारी से उत्पन्न मानवीय संकट के बीच देश के लोगों तक पहुंचकर पूरी दुनिया में एक रोल मॉडल रही है । उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी के मजबूत नेतृत्व ने देश के सभी नागरिकों को समान रूप से मुफ्त COVID टीकाकरण सुरक्षा सुनिश्चित करने में मदद की है।
 

हिमाचल प्रदेश के हमीरपुर जिले के दो दिवसीय दौरे के अंतिम दिन प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना (पीएमजीएसवाई) के तहत दो उन्नत सड़कों का लोकार्पण कर पंजोत ग्राम पंचायत में जनसभा को संबोधित करते हुए श्री ठाकुर ने कहा कि कोरोना संकट काल में नरेन्द्र मोदी प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना (पीएमजीकेएवाई) के तहत 80 करोड़ लोगों को 15 महीने तक मुफ्त राशन देकर पूरी दुनिया में एक मिसाल कायम की।
 मंत्री ने कहा कि संकट के समय में मोदी ने देश को एक मजबूत नेतृत्व प्रदान किया और देश के वैज्ञानिकों ने केवल नौ महीनों में वैक्सीन तैयार की और कहा कि केंद्र सरकार लगभग 35 हजार करोड़ रुपए में सभी देशवासियों को वैक्सीन सुरक्षा कवर प्रदान कर रही है। 
उन्होंने कहा कि प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले सात वर्षों के दौरान अत्याधुनिक राजमार्गों के निर्माण के साथ-साथ सभी सीमावर्ती क्षेत्रों में सबसे अच्छा बुनियादी ढांचा विकसित किया है जिससे सुरक्षा बलों को देश की सीमाओं पर अपनी स्थिति मजबूत करने में मदद मिली है। उन्होंने कहा कि इस दिशा में हिमाचल प्रदेश में भानुपल्ली-बिलासपुर रेल लाइन का निर्माण कार्य भी तेज गति से किया जा रहा है ।
 केंद्रीय मंत्री ने कहा कि अटल बिहारी वाजपेयी के कार्यकाल के दौरान शुरू की गई प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना (पीएमजीएसवाई) ने ग्रामीण भारत के भाग्य और परिदृश्य को बदल दिया है। उन्होंने आगे कहा कि प्रेम कुमार धूमल के मुख्यमंत्रित्व काल में इस योजना के उत्कृष्ट क्रियान्वयन से हिमाचल प्रदेश के दूर-दराज के गांवों तक सड़क संपर्क पहुंच गया है ।
मंत्री ने बताया कि पंजोत-धारयाड़ा मार्ग पर करीब 2 करोड़ 30 लाख रुपये और डूंगी कांजियां मार्ग पर 3 करोड़ 18 लाख रुपये खर्च किए जा चुके हैं । उन्होंने कहा कि अवधवी-बगवाड़ा-डेरा परोल मार्ग पर 7.82 करोड़ रुपये, कंगू गालू-कालाहू-अमरोह मार्ग पर 5.21 करोड़ रुपये और जिज्विन मार्ग पर 5.83 करोड़ रुपये खर्च किए जा रहे हैं। मंत्री ने आगे बताया कि पीएमजीएसवाई के तहत भोरंज विधानसभा क्षेत्र में 31 करोड़ रुपये की राशि खर्च की जा रही है।
ठाकुर ने कहा कि कोविड-19 महामारी की अवधि के दौरान केंद्र सरकार की मदद के अलावा, हिमाचल प्रदेश की जरूरतों को पूरा करने और बढ़ाने के लिए पांच पीएसए ऑक्सीजन प्लांट भी स्थापित किए गए हैं। 
मंत्री ने लोगों से स्वच्छता के मंत्र को अपनी दिनचर्या में शामिल करने की अपील दोहराई। ठाकुर हिमाचल प्रदेश के गृह जनपद हमीरपुर के दो दिवसीय दौरे पर थे।
शनिवार को गांधी जयंती के अवसर पर, ठाकुर ने हमीरपुर जिले के सुजानपुर क्षेत्र से ‘स्वच्छ भारत अभियान’ की शुरुआत इस संदेश के साथ की कि प्रत्येक नागरिक को स्वच्छता को जीवन के तरीके के रूप में अपनाने की गंभीर प्रतिज्ञा लेने की आवश्यकता है ताकि स्वच्छ भारत अभियान में सफलता और देश भर में जमीनी स्तर पर इसके ठोस प्रभाव को प्राप्त किया जा सके। गौरतलब है कि युवा मामले और खेल मंत्रालय ने 1 अक्टूबर से 31 अक्टूबर तक देश भर में लगभग 75 लाख किलोग्राम प्लास्टिक कचरा एकत्र करने का लक्ष्य रखा है। राष्ट्रव्यापी अभियान 1 अक्टूबर को उत्तर प्रदेश के तीर्थ शहर प्रयागराज से शुरू किया गया था।

Most Popular

Recent Comments