Wednesday, June 19, 2024
Homeशिमलाबहाने से बाहर भेजा छात्रों को और पीछे से राज्य पुस्तकालय में...

बहाने से बाहर भेजा छात्रों को और पीछे से राज्य पुस्तकालय में जड़ दिया ताला

शिमला : राज्य पुस्तकालय की ब्रांच जो की संध्याकालीन कॉलेज शिमला में स्थित है के पुस्तकालय को बिना किसी अधिसूचना के बंद कर दिया गया है l इस बारे में पुस्तकालय प्रशासन ने बताना न अपनी जिमेवारी समझी और बिना कोई नोटिस दिए छात्रों कोबाहर का रास्ता दिखा दिया l इस कार्यवाही से नाराज छात्रों ने प्रदेश उच्च शिक्षा निदेशक का घेराव किया। छात्रों ने प्रदेश सरकार और शिक्षा निदेशक को चार दिनों का अल्टीमेटम देते हुए जल्द पुस्तकालय मुहैया करवाने की मांग की है। ऐसा न करने पर छात्रों ने आंदोलन करने की चेतावनी दी है।

गौरतलब है कि राज्य पुस्तकालय की दूसरी शाखा पुस्तकालय संध्याकालीन कॉलेज शिमला में चल रहा है, जिसे अब चौड़ा मैदान में शिफट करने के चलते सोमवार को बंद कर दिया गया। धरने पर बैठे छात्र मनीष से जब बात की तो उन्होंने बताया कि छात्रों को किताबें सही करने के बहाने से बाहर भेज दिया गया और जब वह वापिस आए तो उसमें ताला लटका दिया गया था l उनका कहना है कि पुस्तकालय बंद करने की पहले से अधिसूचना जारी नहीं की गई। जबकि कई दूर दूर के छात्र जो की गावं से पढने के लिए आते हैंवे अपनी किताबें भी पुस्तकालय में छोड़ कर गए होते है ऐसे में वो अपनी किताबें भी नही ले पाएंगे और बहुत सी परीक्षाएं इस समय सिर पर है और उन्हें अपने भविष्य की चिंता सता रही है l

छात्रों का कहना है कि चौड़ा मैदान में बने नए पुस्तकायल में उन्हें शिफट करने की बात कही गई , जिसके बाद शिक्षा निदेशक से छात्र मिलने पहुंचे। विनय त्यागी व अन्य छात्रों का कहना है कि नए पुस्तकालय को भी दो अक्तूबर से शुरू करने की बात कही गई। कॉलेज के छात्रों का कहना है कि वे अकादमिक पढ़ाई के साथ साथ प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी भी कर रहे हैं , ऐसे में इतने दिनों तक वे कहां बैठकर पढ़ेगे। छात्रों का ये भी कहना है कि चौड़ा मैदान स्थित डॉ अम्बेडकर पुस्तकालय में करीब 180 छात्रों के बैठने की जगह है, जबकि संध्याकालीन कॉलेज शिमला में चल रहे पुस्तकालय सहित राज्य पुस्तकालय में पढने आने वाले छात्रों की संख्या लगभग 450 है। ऐसे में अम्बेडकर पुस्कालय में छात्रों के बैठने की किस तरह व्यवस्था की जाएगी।

नया पुस्तकालय दो अक्तूबर तक होगा शुरू-शिक्षा निदेशक

मामलेे पर उच्च शिक्षा निदेशक डा.अमरजीत कुमार शर्मा का कहना है कि इस पुस्तकाल्य को चौड़ा मैदान शिफट किया जा रहा है। ऐसे में सांध्यकालीन कालेज के पुस्तकालय को बंद कर दिया गया है। उन्होने कहा कि किताबों की शिफिटंग और नई लाईबे्ररी में इनकी व्यवस्था करने में लगभग दो सप्ताह का समय लग जाएगा। नया पुस्तकालय 2 अक्तू बर तक खोल दिया जाएगा।

Most Popular