Sunday, December 4, 2022
Homeराजनीतिहिंदू धर्म से आजादी वाली सोच घातक: पंडित शशिपाल

हिंदू धर्म से आजादी वाली सोच घातक: पंडित शशिपाल

माफी मांगें विधायक और पार्षद, अन्यथा कोर्ट जाएंगे

शिमला
ब्राह्मण सभा के अध्यक्ष पंडित शशिपाल डोगरा ने विधायक राकेश सिंघा और नगर पंचायत चीड़गांव के पार्षद द्वारा हिंदू और सनातन धर्म पर की गई टिप्पणी पर कड़ा एतराज जताया है। उन्होंने विधायक और इस पार्षद से इस मामले पर तुरंत माफी मांगने की मांग की है। उनका कहना है कि जिस तरह से हिंदू धर्म और सनातन धर्म के खिलाफ इन नेताओं ने टिप्पणी की है, वह किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उन्होंने कहा कि यदि इन नेताओं ने माफी नहीं मांगी तो इनके खिलाफ मामले दर्ज किए जाएंगे।
पंडित डोगरा ने कहा कि यहां कई लोग धर्म को लेकर तर्कहीन बात करते हैं। उन्होंने कहा कि हमारा संविधान धर्म की आजादी देता है, लेकिन किसी धर्म का अपमान करने की आजादी किसी को भी नहीं देता। उन्होंने कहा कि हमारी संस्कृति ही हमारी पहचान है। हम भारत वर्ष के उस भाग में रहते हैं, जहां देवी-देवताओं की बहुत मान्यता है। जहां उन्हें पूछे बिना कोई भी शुभ कार्य नहीं होता। लेकिन कुछ नेता अपने राजनीतिक लाभ और अपनी राजनीति में आगे बढ़ाने के लिए अनर्गल और धर्म विशेष पर टिप्पणी कर उनकी भावनाओं से खिलवाड़ कर रहे हैं।
ब्राह्मण सभा के अध्यक्ष पंडित शशिपाल डोगरा ने कहा कि हिंदू धर्म को कोई क्या मिटाएगा, जो सदियों से चला आ रहा है। उन्होंने कहा कि किसी धर्म में बुराई को मिटाने की बात कर सकते हो, लेकिन इस तरह पूरे धर्म पर ही उंगली उठाना और प्रश्न खड़ा करना, सरासर गलत है। उन्होंने विधायक और उक्त पार्षद‌ से कहा कि उनकी ऐसी हरकत से हिंदुओं की आस्था को ठेस पहुंची है। उन्होंने कहा कि आस्था को ठेस पहुंचाना कौन से अपराध की श्रेणी में आता है, यह समझ लेना चाहिए। उन्होंने विधायक राकेश सिंघा और पार्षद से हिंदुओं और सनातन धर्म पर की टिप्पणी पर माफी मांगने की मांग की है

सत्यदेव शर्मा सहोड़

Most Popular

Recent Comments