Monday, March 4, 2024
Homeशिमलानारद जयंती के अवसर पर राज्यस्तरीय पत्रकार सम्मान समारोह

नारद जयंती के अवसर पर राज्यस्तरीय पत्रकार सम्मान समारोह

शिमला : विश्व संवाद केंद्र शिमला ने नारद जयंती के उपलक्ष पर वीरवार को राज्यस्तरीय पत्रकार सम्मान समारोह का आयोजन किया गया। होटल होलीडे में आयोजित कार्यक्रम में मुख्य अतिथि संसदीय कानून एवं शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज ने शिरकत की। इसके साथ ही पांचजन्य के पूर्व संपादक एवं पूर्व राज्यसभा सदस्य तरुण विजय बतौर मुख्य वक्ता कार्यक्रम में मौजूद रहे, जबकि कार्यक्रम की अध्यक्षता शिमला प्रेस क्लब के अध्यक्ष अनिल हैडली ने की। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्य वक्ता तरुण विजय ने कहा कि पत्रकारिता की साख बचाने के लिए शब्दों से युद्ध करना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि पत्रकार ही समाज का निर्माण में भूमिका निभाता है। उन्होंने कहा कि शब्द पत्रकार का आधार होते हैं और जब पत्रकार शब्दों से दूरी बना लेते हैं तो पत्रकारिता का प्रभाव कम होने लगता है । पत्रकारिता के जगत में शब्द को तीर्थ समझा जाता है। आजादी से पूर्व महात्मा गांधी, भगत सिंह, लोकमान्य तिलक, आदि क्रांतिकारियों ने पत्रकार के तौर पर सबसे पहले कार्य शुरू किया था और देश निर्माण में अपना योगदान दिया था।  कहा भी जाता है जो युद्ध हथियारों, तोपो से  जीते जाते हैं। वह युद्ध अब कलम से जीते जा सकते हैं।

कलम के धर्म और अधर्म का ज्ञान एक पत्रकार को होना बहुत जरूरी है । यह ज्ञान जब प्राप्त हो जाएगा तो  राष्ट्र निर्माण में स्वंय ही भूमिका तय हो जाएगी। आज के परिवेश में पत्रकारिता एक बाज़ार बन चुकी है। कुछ वर्ष पहले समाज में पत्रकारिता अहम रोल रखती थी। लेकिन कम दिखाई देती थी। आज पत्रकारिता में विज्ञापन का प्रभाव काफी बढ़ गया है। लेकिन फिर भी पत्रकारिता को एक मिशन के रूप में काम करने वाले पत्रकार आज समाज में अमिट छाप छोड़ रहे हैं। सोशल मीडिया के दौर में भ्रामक सामग्रियां जनता के सामने आती हैं। वहीं पत्रकारिता के सामने दो मुख्य चुनौतियां वर्तमान परिदृश्य में है जिनमें एक भाषा कंटेंट और वैचारिकता है।  लेकिन इनसे निपटने के लिए विश्व संवाद केंद्र देशभर में पत्रकारिता के क्षेत्र में कार्य कर रहा है । इसी मौके पर हिमाचल प्रदेश के शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज जी ने कहा कि आजादी के बाद का दौर पत्रकारिता के क्षेत्र में काफी प्रभावी रहा है।

लेकिन जब देश में आपातकाल लगा तो मीडिया का गला घोट दिया गया। आज ऐसी भाषा इस्तेमाल हो रही है जो कि समाज में सही संदेश नहीं देती है। आज नशे के खिलाफ समाज को जागरूक करने का काम मीडिया कर सकती है।उन्होंने पत्रकारों से आह्वान किया कि नकारात्मक के साथ सकारात्मक ख़बरें दिखानी चाहिए।  इस कार्यक्रम में विश्व संवाद केंद्र  के साप्ताहिक विचार पत्र हिम संचार विशेषांक का विमोचन मुख्य तिथि और मुख्य वक्ता ने किया। विश्व संवाद केंद्र शिमला प्रांत प्रमुख दलेल ठाकुर ने केंद्र के बारे में विस्तृत जानकारी देते हुए कहा कि पिछले 12 वर्षों से नारद जयंती के अवसर पर पत्रकार सम्मान समारोह आयोजित किया जा रहा है और अब तक 60 पत्रकारों को सम्मानित कर चुके। विश्व संवाद केंद्र शिमला न्यास के अध्यक्ष प्रोफेसर नरेंद्र शारदा ने धन्यवाद प्रस्ताव पेश किया। कार्यक्रम का मंच संचालन केंद्र की सदस्य नीतू वर्मा ने किया। इस अवसर पर पत्रकार सम्मान समारोह के तहत मातृ वंदना के संपादक डॉ दयानंद शर्मा जी को वरिष्ठ पत्रकार के तौर पर सम्मानित किया गया।

वहीं दिव्य हिमाचल के पूर्व स्टेट ब्यूरो स्वर्गीय सुनील शर्मा को विशेष स्मृति सम्मान से पुरस्कृत किया गया। दैनिक जागरण के संवाददाता अजय बन्याल को युवा पत्रकार, दिव्य हिमाचल की दीपिका शर्मा को महिला पत्रकार, इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में टीवी 100 के पराक्रम चंद को सम्मानित किया गया। वहीं मंडी जिला के छायाकार जय कुमार को भी सम्मानित किया गया। इस मौके पर प्रांत प्रचार प्रमुख महीधर प्रसाद, मातृवंदना संस्थान के सचिव जय सिंह ठाकुर, सहसचिव वासुदेव, सूचना जनसंपर्क विभाग की संयुक्त निदेशक आरती गुप्ता, पार्षद किम्मी सूद, मेजर बीएस थापा, हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय और एपीजी के प्राध्यापक में छात्रों सहित कई गणमान्य लोग उपस्थित रहे।

Most Popular