Sunday, September 25, 2022
HomeCongressपहली बार किसी सरकार ने सेब व फलों की पैकेजिंग सामग्री पर लगाया...

पहली बार किसी सरकार ने सेब व फलों की पैकेजिंग सामग्री पर लगाया जीएसटी

शिमला: प्रदेश कांग्रेस प्रचार समिति के अध्यक्ष सुखविंदर सिंह सुक्खू ने कहा है कि नरेंद्र मोदी ने पांच साल पहले किसानों की आय दुगने करने का जो वायदा किया था वो जुमला साबित हुआ है। किसान बागवान आज सड़कों पर उतरने को मजबूर हो गए हैं। शिमला में एक प्रैस कांफ्रेंस में सुखविंदर सिंह सुक्खू ने कहा कि इन दिनों हिमाचल में सेब का सीजन चरम पर है, इसके बावजूद बागवान मजबूरन अपना काम छोड़कर राज्य सचिवालय का घेराव करने पहुंचे। उन्होंने कहा कि यह विडंबना है कि बागवानों को मजबूरन सड़कों पर उतरकर अपनी फसल को बचाने के लिए उतरना पड़ रहा है। इस आंदोलन में महिलाएं भी थीं जो कि कह रही थीं कि हमने अपने बागीचों को बच्चों की तरह पाला है, लेकिन यह सरकार उनको उजाड़ने पर उतारू है। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार हिमाचल में सेब को खत्म करने पर तुली हुई है। आज तक सेब और अन्य फलों के कार्टन पर जीएसटी नहीं था, लेकिन केंद्र की मोदी सरकार ने इस पर 18 फीसदी जीएसटी लगा दिया। अब जयराम सरकार छह फीसदी जीएसटी कम करने की बात कर रही है। सरकार को चाहिए था कि इस पूरे जीएसटी को ही खत्म कर देती। सुखविंदर सिंह सुक्खू ने कहा कि भाजपा सरकार ने सेब की दवाइयों पर सब्सिडी खत्म कर दी। इससे सेब उत्पादन की लागत कई गुणा बढ़ गई है, जबकि इसके अनुपात में उनको इसके दाम नहीं मिल रहे। उन्होंने कहा कि सरकार के नकारात्मक रवैये से हिमाचल में 4000 करोड़ से अधिक की सेब की आर्थिकी पर संकट खड़ा हो गया है। हिमाचल में सेब से सीधी तौर पर एक लाख युवाओं को रोजगार मिला हुआ है जबकि करीब 1.50 लाख परिवार इससे जुड़े हुए हैं। अप्रत्यक्ष रूप से लाखों लोगों की आजीविका इससे जुड़ी हुई है। यही नहीं सेब से हिमाचल की आर्थिक स्थिति भी मजबूत होती है। मगर भाजपा सरकार सेब की आर्थिकी को तहस नहस कर रही है। सुखविंदर सिंह सुक्खू ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी आड़े हाथों लेते हुए कहा कि हिमाचल के बागवनों को झूठा आश्वासन देकर वोट की राजनीति कर गए। उन्होंने याद दिलाया कि मंडी में एक रैली में नरेंद्र मोदी ने कहा था कि सेब आयात शुल्क 100 फीसदी किया जाएगा ताकि विदेश से सस्ता सेब देश में न आए। लेकिन आज तक इस दिशा में कोई कदम नहीं उठाए। उन्होंने कहा कि यह आनंद शर्मा ही थे जिन्होंने वाणिज्य मंत्री रहते हुए सेब पर 50 फीसदी आयात शुल्क लगाया था। मोदी सरकार ने इस पर कुछ नहीं किया। सुखविंदर सिंह सुक्खू ने मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर पर हमला करते हुए कहा कि जयराम ठाकुर किसानों और बागवानों को हितैषी होने का ढोंग रच रहे हैं। उन्होंने जयराम ठाकुर से कहा कि जुमलों और झूठे वायदों से सता नही मिलती। ऐसे में वे दोबारा सता में आने का सपना छोड़ दे। उन्होंने कहा कि हिमाचल में फसल बीमा योजना से बागवानों और किसानों को कोई फायदा नहीं हो रहा। बीमा कंपनियां फसल बर्बाद होने पर किसानों और बागवानों को नाममात्र के मुआवजा देकर करोडों ऐंठ रही है।
सुखविंदर सिंह सुक्खू ने केंद्र की मोदी सरकार को तानाशाह सरकार करार देते हुए कहा कि मोदी सरकार विपक्ष के नेताओं को निशाना बना रही है ताकि उसकी जन विरोधी नीतियों को कोई विरोध न करे। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी मोदी सरकार की जनविरोधी नीतियों और फैसलों को खुलकर विरोध कर रहे हैं। इसलिए उनको ईडी के माध्यम से प्रताड़ित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ईडी का इस्तेमाल चुनाव जीतने के मकसद से कर रही है। उन्होंने कहा कि अगर इस तरीके से ही चुनाव जीतने हैं तो चुनाव आयोग को खत्म कर ईडी में बदल देना चाहिए। उन्होंने कहा कि कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनके मंत्रियों ने हिमाचल की जनता से झूठे वादे किए। मोदी ने ऊना तलवाड़ा रेलवे लाइन तीन साल में पूरा करने का वादा किया था। लेकिन अब तक यह पूरी नहीं हुई। नौ साल पहले यूपीए सरकार ने मंडी में आईआईटी और देहरा में सेंट्रल दी थी ,लेकिन आज तक सेंट्रल यूनिवर्सिटी को लेकर कोई कदम नहीं उठाए गए। केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने पठानकोट मंडी जोगिंदर नगर फोरलेन और शिमला मटौर फोरलेन को तीन साल में पूरा करने की घोषणा चुनावों के समय की थी, लेकिन इनकी हालात क्या है यह सब जानते हैं।

Most Popular

Recent Comments